मानसून ने सियासी आरोपों पर लगाया विराम

By: Ashish sharma

Updated On:
24 Aug 2019, 05:38:45 PM IST

  • जयपुर
    राजस्थान ( Rajasthan ) में इस बार मानसून ( Monsoon ) इस कदर मेहरबान हुआ है कि मानसून ने सियासी ( Political ) बयानबाजी के मायनों को ही गलत साबित कर दिया। राजस्थान में पिछले कई सालों से एक बार कांग्रेस ( Congress ) तो एक बार भाजपा ( BJP ) की सरकार ( Government ) बनती रही है। राज्य में जब कांग्रेस की सरकार बनती तो विपक्ष के निशाने पर कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) रहते रहे हैं।

     

जयपुर
राजस्थान ( Rajasthan ) में इस बार मानसून ( Monsoon ) इस कदर मेहरबान हुआ है कि मानसून ने सियासी ( Political ) बयानबाजी के मायनों को ही गलत साबित कर दिया। राजस्थान में पिछले कई सालों से एक बार कांग्रेस ( Congress ) तो एक बार भाजपा ( BJP ) की सरकार ( Government ) बनती रही है। राज्य में जब कांग्रेस की सरकार बनती तो विपक्ष के निशाने पर कांग्रेस सरकार के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ( Chief Minister Ashok Gehlot ) रहते रहे हैं। विपक्ष अक्सर यह आरोप लगाता रहा कि जब अशोक गहलोत मुख्यमंत्री बनते हैं तो उनके कार्यकाल में राजस्थान में अच्छी बारिश नहीं होती और अकाल पड़ जाता है। लेकिन इस बार राज्य में 2 जुलाई से प्रवेश करने वाले मानसून ने विपक्ष के इन सियासी आरोपों पर विराम लगा दिया।

आपको बता दें कि राजस्थान में इस समय मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के नेतृत्व वाली कांग्रेस पार्टी की सरकार है। राज्य में अब तक सामान्य से ज्यादा बारिश हो चुकी है। संभागवार बांधों की भराव स्थिति की बात करें तो राज्य में अब तक बांधों में पिछले साल से 27 फीसदी अधिक पानी आ चुका है। कई जिलों में अत्यधिक बारिश से बाढ़ की स्थिति तक बन गई। राज्य में अब तक बड़े बांधों में 77 फीसदी से ज्यादा पानी आ चुका है जबकि 2018 में इस समय तक कुल 50.76 फीसदी ही पानी बांधों में आया था।

अब तक 27 फीसदी ज्यादा पानी

जलसंसाधन विभाग के आंकड़ों के मुताबिक जयपुर संभाग में इस समय बांधों में 63 फीसदी, जोधपुर संभाग के बांधों में 45 फीसदी से ज्यादा पानी आ चुका है। वहीं बात करें तो कोटा संभाग के बांधों की तो इनमें 90 फीसदी जबकि उदयपुर संभाग के बांधों में 85 फीसदी से ज्यादा पानी आ चुका है। जबकि 2018 में 24 अगस्त तक जयपुर संभाग के बांधों में 20.8 फीसदी, जोधपुर संभाग के बांधों में 13.9 फीसदी, कोटा संभाग के बांधों में 62.7 फीसदी जबकि उदयपुर संभाग के बांधों में 64.9 फीसदी भरे थे। आपकाे बता दें कि राज्य में 24 अगस्त तक सामान्य से 35 फीसदी ज्यादा बारिश हाे चुकी है।

Updated On:
24 Aug 2019, 05:38:45 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।