आटो रिक्शा चालक को दे रहा था यूआईटी का चेयरमैन बनाने का झांसा, मांगे थे 50 लाख, फिर ...

By Dinesh Gautam

|

21 Jan 2020, 12:35 AM IST

Jaipur, Jaipur, Rajasthan, India

रसूखातों के चलते सरकारी नौकरी और राजनीतिक नियुक्ति करवाने का झांसा दे लाखों रुपए ठगने वाले १२वीं फेल फर्जी आईएएस को अशोक नगर थाना पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। पूछताछ में पहले भी इस तरह की वारदातों से पर्दा उठने की संभावना है।
एडिशनल कमिशनर (प्रथम) अशोक गुप्ता ने बताया कि गिरफ्तार जालसाज नीरज कुमार (20) मूलत: करौली के हिंडौन का रहने वाला है। उसके खिलाफ संजीव चन्द्रावत (36) निवासी गोपालपुरा बाईपास ने धोखाधड़ी और जालसाजी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। रिपोर्ट के अनुसार आरोपी नीरज खुद को आईएएस अफसर बताकर खुद को राष्ट्रपति भवन में तैनात बताता था। वह लोगों को सरकारी नौकरी से लेकर राजनीतिक नियुक्तियां दिलाने का भी झांसा देता था। आरोपी ने कई लोगों से सरकारी नौकरी के नाम पर 5-5 लाख रुपए की ठगी की है। शातिर ने परिवादी के कई मित्रों को ठगा, जबकि उसे भीलवाड़ा यूआईटी चेयरमैन बनवाने का झांसा देकर 50 लाख रुपए की मांग कर रहा था। शातिर ने एक अन्य व्यक्ति सुल्तान सिंह के खाते में ठगी की करीब 1 लाख रुपए की रकम डलवाई थी और खुद को राष्ट्रपति भवन में ओएसडी बताया था। मामले में अशोक नगर पुलिस पड़ताल कर रही है।

12 वीं फेल मास्टर माइंड
पुलिस ने बताया कि आरोपी 3 साल पहले 12वीं में फेल हो गया था। अधिकारियों के पहनावे से प्रभावित होकर उसने भी खुद को आईएएस बताना शुरू कर दिया। उसने हिंडौन के अलावा जोधपुर, श्रीगंगानगर, सीकर में भी लोगों के साथ ठगी की वारदातों को अंजाम दिया है। पुलिस ने बताया कि शातिर को पहले भी इसी तरह के मामले में बजाज नगर पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। बड़े होटलों में पार्टी करना और सर्किट हाउस में रुककर महंगा शौक पालने वाला शातिर लोगों को आसानी से टारगेट कर लेता था।

होटल की कैटिंन में बुलाया था रुपए लेकर
आरोपी ने एक ऑटो ड्राइवर को और एक प्रॉपर्टी व्यवसायी को बड़ा ओहदा दिलवाने का वादा किया। इसके लिए उसने ५० लाख रुपए की मांग की। खुद को बड़ा आदमी साबित करने के लिए रामबाग चौराहे स्थित लक्जरी होटल में पैसा लेकर बुलाया। पुलिस जांच में सामने आया कि आरोपी एक दूसरे होटल में रह रहा था, लेकिन पैसा देने वालों पर इम्प्रेस डालने के लिए होटल की कैंटिन में बुलाया। वहां पर पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। आरोपी के पास छह लाख रुपए की नकदी मिली है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।