शाह ने दिया जीत का मंत्र, दाएं-बाएं नहीं सिर्फ अपने लक्ष्य पर ध्यान केंद्रित करें भाजपा कार्यकर्ता

By: Mridula Sharma

Updated On: Sep, 12 2018 09:56 AM IST

  • प्रबुद्ध नागरिकों, नगर निकाय व सहकारिता प्रतिनिधियों, शक्ति केंद्र प्रमुखों के बीच संबोधन में बोले राष्ट्रीय अध्यक्ष

जयपुर. राजस्थान में चुनावी रणभेरी के बीच भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने केन्द्र और राज्य सरकार की उपलब्धियां गिनाते हुए कार्यकर्ताओं को जीत का मंत्र दिया। शाह ने कांग्रेस पर धावा बोलते हुए कहा कि राजस्थान में भाजपा सरकार अंगद का पांव है, उसे कोई उखाड़ नहीं सकता है। कांग्रेस पार्टी तो इसके बारे में सोचे भी नहीं।
शाह ने यह बात मंगलवार को सूरज मैदान में शक्ति केन्द्र सम्मेलन में कहीं। उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ताओं को अब दाएं—बाएं देखने की जरूरत नहीं है, बल्कि वर्ष 2019 के चुनाव पर फोकस करते हुए विधानसभा चुनाव जिताने पर ध्यान दें। यह किसी मुख्यमंत्री या मंत्री का चुनाव नहीं, भाजपा का चुनाव है, इसलिए प्रचंड बहुमत से जिताने की तैयारी करें। इस बीच शाह ने वसुंधरा सरकार की उपलब्धि की सूची बांची और कहा कि इस सरकार ने इतना काम किया है कि उसका बखान करने लिए भागवत सप्ताह बैठानी पड़े। सूरज मैदान में शक्ति केन्द्र प्रमुख, मण्डल अध्यक्ष, जिला प्रभारियों में जोश भरा।

 

गठबंधन सरकारों से नहीं होता भला
शाह ने बिड़ला सभागार में प्रबुद्धजन सम्मेलन में कहा है कि गठबंधन से बनी सरकारों से कभी भी देश का भला नहीं हो सकता है। ऐसे गठबंधन से सरकार तो चल सकती है लेकिन देश व्यवस्थित तरीके से नहीं। इसके लिए गठबंधन की यूपीए सरकार में पनपे हालात का उदाहरण देते हुए देश को पीछे ले जाने का दावा कर दिया।

 

अब यह कारवां थमने वाला नहीं
शाह ने सूरज मैदान में प्रदेश सहकारिता जनप्रतिनिधि सम्मेलन में किसानों के मुद्दों को लेकर केन्द्र की नरेन्द्र मोदी और राज्य की वसुंधरा सरकार की जमकर तारीफ की और कांग्रेस को कठघरे में खड़ा किया। उन्होंने राहुल गांधी के साथ सचिन पायलट पर हमले किए और कहा कि उन्हें खेती का ज्ञान नहीं है और इसके बारे में भाषण दिए फिरते हैं। उन्होंने कहा कि कृषि के क्षेत्र में केन्द्र और राज्य दोनों ने अच्छा काम किया है।

 

शाह ने संघ से मांगा समर्थन!
शाह जयपुर दौरे के दौरान मंगलवार शाम को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और उससे जुड़े आनुषांगिक संगठनों के प्रतिनिधियों से मिले और सरकार के कामकाज गिनाकर आने वाले चुनावों में समर्थन मांगा। यह बैठक इसलिए भी महत्वपूर्ण मानी जा रही है, क्योंकि संघ और राजस्थान की भाजपा सरकार के रिश्ते पिछले कुछ सालों से अच्छे नहीं रहे हैं। सी स्कीम एक स्थित एक स्कूल में संघ और अन्य संगठनो के चालीस से ज्यादा प्रतिनिधियों से बातचीत की। मंच पर संघ के क्षेत्रीय संघचालक दुर्गादास, शाह और प्रदेश अध्यक्ष मदनलाल सैनी बैठे। सह क्षेत्रीय संघचालक निम्बाराम समेत संघ के अन्य पदाधिकारी भी बैठक में मौजूद रहे।

Published On:
Sep, 12 2018 09:56 AM IST