75 साल बाद गंगा दशमी पर बन रहा है इन दस योगों का संयोग

By: Devendra Singh

Updated On:
12 Jun 2019, 09:25:05 AM IST

 
  • इस बार गंगा दशहरे पर अद्भुत संयोग बन रहा है। ज्योतिषाचार्यों का दावा है कि जिन दस योगों में मां गंगा पृथ्वी पर अवतरित हुई थीं, ठीक वही संयोग आज गंगा दशहरे पर बन रहे हैं। ये संयोग 75 साल बाद फिर से बन रहे हैं।

जयपुर। गंगा मैया का स्वर्ग से पृथ्वी पर अवतरण दिवस गंगा दशहरा (ganga dashahara 2019) पर्व आज 12 जून को भक्तिभाव से मनाया जा रहा है। इस बार गंगा दशहरे पर अद्भुत संयोग बन रहा है। ज्योतिषाचार्यों का दावा है कि जिन दस योगों में मां गंगा पृथ्वी पर अवतरित हुई थीं, ठीक वही संयोग आज गंगा दशहरे पर बन रहे हैं। ये संयोग 75 साल बाद फिर से बन रहे हैं। इस दिन सर्वार्थसिद्धि योग, कुमार योग और रवियोग का भी विशेष संयोग बन रहा है। ज्येष्ठ मास के शुक्ल पक्ष की दशमी पर मां गंगा के पृथ्वी पर अवतरित होने की मान्यता है। अक्सर गंगा दशहरे के दिन सभी दस योग नहीं मिलते। लेकिन इस बार दसों योगों का दिव्य संयोग बन रहा है। इसमें ज्येष्ठ मास, शुक्ल पक्ष, दशमी तिथि, बुधवार, हस्त नक्षत्र, व्यातिपात योग, गर करन, कन्या का चंद्रमा, वृष का सूर्य और आनंद योग बने थे। पौराणिक मान्यताओं के अनुसार सोमवती अमावस्या और गंगा दशहरे तक गंगा नदी में स्नान का खासा महत्व है। इस बार गंगा दशहरे पर कुमार योग, रवियोग व सर्वार्थसिद्धि योग के साथ मनाया जा रहा है। गंगा दशमी पर बुध, मंगल और राहु मिथुन राशि में गोचर करेंगे, जिसके चलते त्रिग्रही योग रहेगा।


खरीदारी के लिए रहेगा श्रेष्ठ मुहूर्त
खरीदारी के लिए श्रेष्ठ सर्वार्थसिद्धि योग बन रहा है। इस दिन कुमार योग व सर्वार्थसिद्घि योग बन रहा है। इस योग में गंगा स्नान के साथ दान-पुण्य करने से कष्टों से मुक्ति और गृह दोष शांत हो सकते हैं। पंडित सुरेश शास्त्री के अनुसार गंगा का अवतरण हस्त नक्षत्र में हुआ था। इस साल गंगा दशहरा पर हस्त नक्षत्र के साथ रवि योग व सर्वार्थसिद्घि योग की निष्पत्ति हो रही है। इसके कारण गंगा दशहरा के पुण्यकाल का महत्व और अधिक बढ़ गया है। इस दिन को संवत्सर का मुख माना गया है। इसी दिन स्वर्ग से गंगा का पृथ्वी पर अवतरण माना गया है। इसमें बाजार से खरीदी करना शुभ है। सोना-चांदी, इलेक्ट्रॉनिक आइटम वाहन आदि सामग्री लोग खरीद सकते हैं।

Updated On:
12 Jun 2019, 09:25:05 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।