महिला कर्मचारी ही करती थी रिश्वत में इज्जत का सौदा, कई महिलाएं फंसी हैं चंगुल में, एसीबी खोलेगी कई राज

By: Pushpendra Singh Shekhawat

Updated On:
24 Aug 2019, 08:59:15 PM IST

  • रिश्वत में अस्मत का मामला : सचिवालय का अफसर तीन दिन के रिमांड पर, पूछताछ के बाद एसीबी ने आरोपी को किया गिरफ्तार, आरोपी के घर से गृह विभाग की फाइलों सहित कुल 21 चेक हुए बरामद

धीरेन्द्र भट्टाचार्य / जयपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने रिश्वत में अस्मत मांगने के आरोपी सचिवालय के अफसर को लंबी पूछताछ के बाद गिरफ्तार कर लिया। आरोपी को एसीबी ने शनिवार को अदालत में पेश किया, जहां से उसे तीन दिन के पुलिस रिमांड पर सौंप दिया गया है। गिरफ्तार अफसर ने रिश्वत में अस्मत के लिए महिला कर्मचारी को ही दलाल बना रखा था। एसीबी का कहना है कि दलाल का काम करने वाली महिला कर्मचारी को भी संदेह के दायरे में लेकर जांच की जा रही है।

 

गृह विभाग की फाइलें भी मिली
रिश्वत में अस्मत के मामले में सचिवालय में गृह ग्रुप- द्वितीय के सेक्शन अधिकारी राकेश कुमार मीणा को लंबी पूछताछ के बाद एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी के सूरजपुरा घाटी के सिद्धार्थ नगर में ए-ब्लाक स्थित घर में एसीबी के डीप्टी सचिन कुमार की टीम ने करीब 8 घंटे तक तलाशी ली। घर में 21 सैल्फ और ब्लेंक चेक के अलावा 17 भूखंडों के दस्तावेज तथा गृह विभाग के ग्रुप डी सहित अन्य कई गोपनीय फाइले भी मिली हैं। करीब सात लाख सैल्फ चैक को एसीबी ने छात्रों को प्रतियोगिता परीक्षाओं पास करवाने और दाखिला करवाने के मामले में ली गई रिश्वत मानी है। एसीबी का मानना है कि आरोपी रिश्वत लेने के मामले में ही गोपनीय फाइलों को भी घर में ले आया था। इन फाइलों के मामले में भी राकेश से पूछताछ की जा रही है।

 

महिला दलाल के भूमिका की भी जांच
एसीबी की जांच में सामने आया है कि राकेश को रिश्वत के बदले अस्मत देने के लिए एक सरकारी महिला कर्मचारी ही शिकार पर डोरे डालती थी। इस मामले में एसीबी ने राकेश और उसके मिलने वालों के सर्विलांस पर लिए गए फोन की रिकार्डिंग के आधार पर सबूत जुटाएं है। एसीबी का कहना है कि दलाल महिला कर्मचारी के भूमिका की जांच की जा रही है।

 

एसीबी के इंस्पेक्टर को भी नहीं बख्शा
जांच में यह भी सामने आया कि एसीब के अजमेर रेंज मुख्यालय में तैनात एक इंस्पेक्टर भी 17 सीसी के तहत मिले नोटिस के मामले में सचिवालय में राकेश मीणा से मिला। एसीबी में दर्ज एफआईआर के मुताबिक राकेश ने उस इंस्पेक्टर को भी बिना रिश्वत के कोई काम करने से साफ इनकार कर दिया था। पीडि़त की शिकायत पर एसीबी इस मामले की भी जांच कर रही है।

 

आरोपी से पूछताछ की जा रही है
रिश्वत में अस्मत के मामले में राकेश मीणा को गिरफ्तार कर शनिवार को अदालत में पेश किया गया। अदालत ने उसे 26 अगस्त तक पुलिस रिमांड पर सौंप दिया है। आरोपी से सभी बिंदुओं पर पूछताछ की जा रही है।

आलोक त्रिपाठी, डीजी एसीबी

Updated On:
24 Aug 2019, 08:59:15 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।