देश में 6 साल में घटीं 90 लाख नौकरियां

रिपोर्ट में दावा : आजाद भारत के इतिहास में पहली बार ऐसा

 

नई दिल्ली
रोजगार को लेकर जारी बहस के बीच एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि पिछले 6 वर्षों में देश में 90 लाख नौकरियां घटी हैं। ऐसा आजाद भारत के इतिहास में पहली बार हुआ है।
यह रिपोर्ट अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी के सेंटर ऑफ सस्टेनेबेल इम्प्लॉयमेंट की तरफ से प्रकाशित की गई है। आंकड़े 2011-12 और 2017-18 के बीच के हैं। इस रिपोर्ट को संतोष मेहरोत्रा और जेके पारिदा ने सेंटर ऑफ सस्टेनेबेल इम्प्लॉयमेंट के लिए तैयार किया है। संतोष जेएनयू में अर्थशास्त्र के प्रोफेसर हैं तो पारिदा पंजाब के केंद्रीय विश्वविद्यालय में पढ़ाते हैं। इससे पहले जेएनयू के ही हिमांशु ने दावा किया था कि 2011-12 से 2017-18 के बीच हर साल करीब 26 लाख लोगों का रोजगार छिना और इन छह वर्षों के दौरान करीब 1.6 करोड़ रोजगार घटे।

दावों में विरोधाभास भी
लवीश भंडारी और अमरेश दुबे की ओर से हाल ही में की गई स्टडी के मुताबिक 2011-12 में 43.3 करोड़ रोजगार थे, जो 2017-18 में बढ़कर 45.7 करोड़ हो गए।
मेहरोत्रा और पारिदा के मुताबिक रोजगार इन्हीं आधार वर्ष में 47.4 करोड़ से घटकर 46.5 करोड़ रह गए। यानी 90 लाख नौकरियां घटीं।
हिमांशु की रिपोर्ट के मुताबिक इन्हीं छह सालों के दौरान रोजगार 47.3 से घटकर 45.7 करोड़ रह गए।


किस क्षेत्र में कितने रोजगार (करोड़ में)
क्षेत्र 2011-12 2017-18
कृषि 23.19 20.53
मैन्यूफैक्चरिंग 5.98 5.64
नॉन मैन्यूफैक्चरिंग 5.53 5.89
सर्विस 12.73 14.44
कुल 47.42 46.51


युवाओं (15 से 29 वर्ष) को कितने रोजगार (करोड़ में)
क्षेत्र 2011-12 2017-18
कृषि 6.07 4.18
मैन्यूफैक्चरिंग 2.21 1.85
नॉन मैन्यूफैक्चरिंग 1.94 1.78
सर्विस 3.57 3.76
कुल 13.80 11.57

(नेशनल सैंपल सर्वे और पीरियॉडिक लेबर फोर्स सर्वे के आंकड़ों के विश्लेषण के आधार पर)

सीएमआइई ने किया था सुधार का दावा
इससे पहले सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआइई) का सर्वे आया था। जिसमें कहा गया है कि मई से अगस्त के बीच करीब 40 करोड़ 49 लाख लोगों के पास नौकरियां थीं, जबकि पिछले साल इसी दौरान 40 करोड़ 24 लाख लोगों के पास नौकरी थी। सीएमआइई के मुताबिक त्रिपुरा, हरियाणा और हिमाचल में लोगों को नौकरियां ढूंढऩे पर भी नहीं मिल रही हैं। त्रिपुरा में बेरोजगारी दर 2&.& फीसदी रेकॉर्ड की गई है। वहीं सीएमआइई की ताजा रिपोर्ट के मुताबिक भारत में बेरोजगारी दर अक्टूबर महीन में तीन साल के उ'चतम स्तर पर पहुंच गई है। आंकड़ों के मुताबिक पिछले महीने बेरोजगारी दर 8.5 फीसदी रही, जो अगस्त 2016 के बाद का उ'चतम स्तर है।

Vijayendra
और पढ़े
Web Title: 90 lakh jobs reduced in 6 years in the country
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।