मुश्किल दौर में मदद के लिए बढ़ रहे हाथ

By: shyam bihari

|

Published: 20 Sep 2020, 08:48 PM IST

Jabalpur, Jabalpur, Madhya Pradesh, India

जबलपुर। कोरोना को मात देने के बाद जबलपुर शहर में छह लोग दूसरे गम्भीर संक्रमितों के उपचार की मदद के लिए आगे आए हैं। ये शनिवार को मेडिकल कॉलेज पहुंचे। एंटीबॉडी टेस्ट सहित अन्य जांच के बाद प्लाज्मा डोनेट किया। मेडिकल कॉलेज में विशेषज्ञों की निगरानी में प्लाज्मा दान की प्रक्रिया पूरी हुई। प्लाज्मा देने वालों में नीरा जैन, मिलिट्री हॉस्पिटल के फार्मासिस्ट इंद्रजीत नायक, कारोबारी अवनीश रावत, डॉ. रोमिल सिंघई, मोहित रावलानी, गौरव रावलानी शामिल थे। कलेक्टर कर्मवीर शर्मा ने कोरोना योद्धा और प्लाज्मा दानदाता के जज्बे की सराहना की है। प्लाज्मा दान करने वाले व्यकितयों को प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। प्लाज्मान डोनेशन प्रक्रिया डॉ. शिशिर चनपुरिया, डॉ. नीरज जैन, डॉ. प्रगति वर्मा, सुनील स्टीफन की निगरानी में हुई। कोरोना से स्वस्थ्य होने वाले लोगों को प्लाज्मा दान के लिए जागरूक और प्रेरित करने के लिए मेडिकल कॉलेज और रेडक्रॉस सोसायटी लगातार प्रयास कर ही है। प्लाज्मा दान के इच्छुक व्यक्ति रेडक्रॉस स्वंयसेवक अंकित पहारिया, सुनील गर्ग से सम्पर्क करके प्रक्रिया की जानकारी ले सकते हैं।
निजी अस्पताल ने लौटाए सीजीएचएस मरीज के रुपए
जबललपुर में सीजीएचएस कार्डधारियों से रुपए लेकर इलाज करने वाले निजी अस्पताल मरीजों के रुपए लौटा रहे हैं। सिटीजन वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष सुभाष चंद्रा ने बताया कि पूर्व में स्वास्तिक हॉस्पिटल ने कार्डधारी के रुपए लौटाए। अब मेडिसिटी अस्पताल ने भी एक लाख रुपए की राशि मरीज को लौटाई है। एसोसिएशन अध्यक्ष चंद्रा ने बताया कि सुरेश वर्मा का इलाज इसी अस्पताल में चल रहा था। इनसे एक लाख रुपए एडवांस लिया गया था। इससे पहले स्वास्तिक अस्पताल ने भी शिकायत पर 70 हजार रुपए मरीज को लौटाए थे। बाकी इलाज का खर्चा क्रेडिट पर किया गया। एसोसिएशन के कुंवर सिंह, एसपी त्यागी, पीके मल्होत्रा, दीपक बैनर्जी, एसके मिश्रा, एमएन सिंह एवं प्रदीप गर्ग ने कहा कि सीजीएचएस जबलपुर के अधिकारी यदि सक्रिय हो जाएं तो कार्डधारियों को लूटने से बचाया जा सकता है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।