raksha bandhan story ; रक्षाबंधन से पहले बहन ने निभाया राखी का फर्ज, भाई को बचाने में दे दी जान

By: Lalit Kumar Kosta

Updated On:
13 Aug 2019, 01:02:31 PM IST

  • - भाई को बचाने के लिए कुएं में कूदी बहन, मौत
    - बरगी थाना क्षेत्र में हादसा, रक्षाबंधन से पहले छूटा भाई-बहन का साथ

जबलपुर। भाई बहन के प्यार का पर्व रक्षाबंधन महज दो दिन दूर है। लेकिन इसकी कसम और फर्ज को निभाने का एक जीवंत किंतु ह्रदय विदारक उदाहरण जबलपुर जिले में देखने मिला है। जहां भाई को बचाने के लिए बहन ने अपनी जिंदगी दांव पर लगाते हुए मौत को गले से लगा लिया।

बरगी थाना क्षेत्र में एक हृदय विदारक घटना में रक्षाबंधन से दो दिन पहले भाई-बहन का साथ हमेशा के लिए छूट गया। मुकुनवारा के मरापाठा गांव निवासी 10 वर्षीय आराधना बरकड़े और उसका छोटा भाई अब्बू सोमवार को कुएं के पास नहा रहे थे। इसी दौरान अब्बू फिसलकर कुएं में गिर गया। छोटे भाई को बचाने के लिए बहन ने भी कुएं में छलांग लगा दी। उसे कुएं में कूदता देख ग्रामीण एकत्रित हो गए। तुरंत दोनों को कुएं से बाहर निकाला गया। पानी में डूबने से स्थिति गंभीर होने पर उन्हें मेडिकल अस्पताल लेकर गए। जहां, चिकित्सकों ने जांच के बाद आराधना को मृत घोषित किया। उसके छोटे भाई ठीक है।

 

 

rakhi ka farz: sister meet death for brothers life saving

बच्ची की मौत के बाद हंगामा-

मेडिकल में बच्ची की मौत के बाद परिजनों ने हंगामा किया। परिजन और ग्रामीणों का आरोप है कि बच्ची को स्ट्रेचर से कैजुअल्टी में जब ले गए उस दौरान स्टाफ की लापरवाही से बच्ची नीचे गिर गई। हादसे में बच्ची को सिर में चोट आई और उसकी मौत हो गई। इसे लेकर ग्रामीणों और मेडिकल कर्मियों की कहासुनी हो गई। विवाद के बाद हंगामा हो गया। मेडिकल अस्पताल प्रबंधन के अनुसार बच्ची की अस्पताल पहुंचने के पहले मौत हो चुकी थी। बरगी विधायक संजय यादव के अनुसार ग्रामीणों ने मेडिकल अस्पताल में लापरवाही के कारण आदिवासी बच्ची की मौत की शिकायत की है।

Updated On:
13 Aug 2019, 01:02:31 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।