प्रदेश के इस मेडिकल कॉलेज को एक साल के लिए मिले 16 डॉक्टर

By: Reetesh Pyasi

Updated On:
11 Sep 2019, 06:58:10 PM IST

  • सिविल, कम्युनिटी और प्रायमरी हेल्थ सेंटर में देंगे सेवा

     

जबलपुर। स्वास्थ्य विभाग ने जिले में 16 चिकित्सकों की एक वर्ष के लिए तैनाती की है। इन सभी चिकित्सकों ने वर्ष 2019 में एमबीबीएस की पढ़ाई पूरी की है। सरकारी मेडिकल कॉलेजों में स्नातक पाठ्यक्रम में प्रवेश के वक्त छात्र-छात्राओं ने एक साल तक अनिवार्य सेवा का बंध पत्र जमा किया था।

402 एमबीबीएस छात्रों की भी तैनाती
पढ़ाई पूरी करने पर प्रदेश के 402 एमबीबीएस विद्यार्थियों को विभिन्न जिलों के अलग-अलग सिविल, कम्युनिटी और प्रायमरी हेल्थ सेंटर में नियुक्त किया गया है। इन्हें 15 दिन के अंदर संबंधित जिले के सीएमएचओ या सिविल सर्जन को रिपोर्ट करना होगा। उसके बाद 15 दिन का प्रशिक्षण होगा। प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद सभी चिकित्सक निर्धारित पदस्थापना स्थल पर एक वर्ष तक सेवाएं देंगे।
read also : अलर्ट: इस शहर में फिर लौटा चिकुनगुनिया बुखार, तेजी से बढ़ रही मरीजों की संख्या

कहां किसकी नियुक्ति
राज्य सरकार ने सिहोरा सिविल अस्पताल में ग्वालियर की मनु कटारे, जबलपुर की बरखा कोचाले, इंदौर की प्रियाम जैन व आदित्य गोयल को नियुक्त किया है। मझौली कम्युनिटी हेल्थ सेंटर में इंदौर के शिव्विर सिंह, पाटन सीएचसी में जबलपुर के श्रीराम रावल को नियुक्त किया है। प्रायमरी हेल्थ सेंटर बघराची में रेवा की प्रीति वास्केल, इंदौर की मीनाक्षी डोडवे, पीएचसी चरगवां में भोपाल के सिद्धांत जैन, जबलपुर के नगीतलंग फैल्ली, पीएसची खितौला में भोपाल के कृष्णकांत गोथी, रीवा के दिनेश सिंह, पीएचसी मझगवां में सागर के योगेश सांवनेर, पीएचसी सोनपुर में सागर के भरत टेकचंदानी, ग्वालियर के देवेंद्र कुमार मैराडे, पीएचसी मझौली में इंदौर के संगीता डुडवे को नियुक्त किया है। इनकी नियुक्ति से ग्रामीण क्षेत्र में चिकित्सा सुविधा बेहतर होगी।

Updated On:
11 Sep 2019, 06:58:10 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।