यहां पेड़ों की टहनियों को छू रहे हैं बिजली के तार, कहीं हो न जाए हादसा

By: Sudarshan Kumar Ahirwar

Published On:
Aug, 13 2019 01:35 AM IST

  • सिहोरा तहसील कार्यालय का मामला : बिजली कंपनी के अधिकारी जानकर बने अनजान

     

जबलपुर. सिहोरा. तहसील कार्यालय में पेड़ों की टहनियों को बिजली के तार छू रहे हैं। रास्तों पर बिजली की केबिल लाइन झूल रही हैं। यह स्थिति सिर्फ एक रास्ते की नहीं है, बल्कि नगर पालिका से तहसील कार्यालय के अंदर जाने वाले सभी रास्तों की है। तहसील कार्यालय में पूरे दिन लोगों की आवाजाही बनी रहती है। ऐसे में बड़ा हादसा होने का खतरा हर समय बना रहता है, लेकिन बिजली कंपनी के अधिकारियों को इससे कोई सरोकार नहीं है। शायद वे किसी बड़े हादसे के इंतजार में हैं।

सिहोरा तहसील कार्यालय प्रांगण में बिजली लाइनें पूरी तरह से अस्त-व्यस्त स्थिति में है। नगर पालिका पहुंचने वाले गेट के पास बिजली के खुले तार पेड़ों से ऐसे सटे हुए हैं कि किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है। यह स्थिति जनपद पंचायत से एसडीएम कार्यालय जाने वाले मार्ग की है। यहां बिजली आपूर्ति के लिए डाली गई केबिल लाइन इस हालत में है कि हाथ ऊपर करते ही केबल लाइन टच होने लगती है। ऐसे में किसी भी दिन बड़ा हादसा हो सकता है। नगर पालिका प्रशासन, जनपद पंचायत और तहसील प्रशासन ने कई बार बिजली कंपनी के अधिकारियों को पेड़ों में लटकते तारों और केबल लाइन को दूसरी जगह स्थानांतरित करने के लिए पत्र लिखा, लेकिन इस पर कोई ध्यान नहीं दिया गया।

सैकड़ों लोगों का रोज होता है आना-जाना- मालूम रहे कि सिहोरा तहसील प्रांगण में तहसीलदार कार्यालय, एसडीएम कार्यालय जनपद पंचायत और नगरपालिका के अलावा आधा दर्जन से अधिक विभागों के कार्यालय हैं। अपने कामों को लेकर हजारों लोगों का नगरी क्षेत्र और ग्रामीण क्षेत्रों से यहां आना जाना होता है। ऐसे में पेड़ों में लटकते बिजली के तार और झूलती केबल किसी भी दिन बड़े हादसे का कारण बन सकती है। इतना ही नहीं इन पेड़ों के नीचे विभाग के अधिकारी और कर्मचारियों के वाहन भी खड़े रहते हैं।

Published On:
Aug, 13 2019 01:35 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।