election 2018 mp : भाजपा के दबंग पूर्व मंत्री की टिकट मुश्किल में, इस कांग्रेसी नेता दिया झटका

By: Lalit Kumar Kosta

Published On:
Sep, 12 2018 01:28 PM IST

  • भाजपा के दबंग पूर्व मंत्री की टिकट मुश्किल में, इस कांग्रेसी नेता दिया झटका

ज्ञानी रजक जबलपुर. विधानसभा चुनाव-2013 में गढ़ा के बूथ क्रमांक-4 पर भाजपा और 107 पर कांग्रेस को एकतरफा वोट मिले थे, लेकिन वोटरों ने जिन वादों पर भरोसा कर मतदान किया, वे पूरे नहीं हुए। भाजपा उम्मीदवार को जहां ज्यादा वोट मिले, वहां अब तक उसी तर्ज पर मतदाताओं को उनका रिटर्न नहीं मिला, यानी विकास कार्य वादों के अनुरूप पूरे नहीं किए गए। उसी तरह कांग्रेस के विजयी नेता की भी उपलब्धि नहीं रही। अब एक बार फिर मतदाताओं के सामने ये पार्टियां हैं और जब लोगों के साथ वादे पूरे नहीं किए गए तो उनके सामने भी अब अपना नया नेता चुनने की बड़ी चुनौती है।

news facts-

भाजपा-कांग्रेस की सबसे बड़ी जीत वाले बूथ की ग्राउंड रिपोर्ट
दमखम से जीते नेता भी अपने किए गए वादों पर खरे नहीं दिखे
संकरी सडक़ विकास से अलग-थलग
विधानसभा क्षेत्र पश्चिम जिला जबलपुर


बूथ क्रमांक 04
मतदान केन्द्र शासकीय कन्या मा. शाला गढ़ा
कांग्रेस को मिले वोट 301
भाजपा को मिले वोट 477

इस बूथ में गढ़ा बाजार, हरदौल मंदिर, कोष्टा मोहल्ला, शाहीनाका मार्ग के मतदाता आते हैं। यहां वोटर संख्या मिली-जुली है। व्यवसायी, प्राइवेट नौकरी वाले और मजदूर वर्ग भी शामिल है। ये क्षेत्र शहर के सबसे पुराने रहवासी इलाकों में से एक हैं। कोष्टा मोहल्ला में कोष्टा समाज की आबादी ज्यादा है। साहू, ब्राह्मण व जैन समाज के वोटर भी हैं, जो चुनाव को प्रभावित कर सकते हैं। भाजपा के प्रत्याशी हरेन्द्रजीत सिंह बब्बू को यहां 477 वोट मिले थे। जबकि प्रतिद्वंद्वी कांग्रेस उम्मीदवार मौजूदा विधायक तरुण भनोत 301 वोट ही हासिल कर सके थे, लेकिन इस बार भाजपा के संभावित उम्मीदवार क्षेत्र में ज्यादा सक्रिय नहीं रहे हैं। इसके कारण इस बार यहां भाजपा की पकड़ यहां कमजोर पड़ती दिख रही है।

पांच साल में क्षेत्र को संकरी सडक़ों और उन पर वर्षों से अवैध कब्जे से मुक्ति नहीं मिली। क्षेत्र में बड़ी संख्या में लोग ऐसे हैं, जो तीन पीढिय़ों से काबिज होने के बाद भी जमीन का मालिकाना हक हासिल नहीं कर सके हैं। आबादी की जमीनों पर काबिज इन लोगों की सुध नहीं ली गई। इस क्षेत्र का बड़ा चुनावी मुद्दा जो पांच साल पहले था, आज भी बरकरार है। समाजसेवी राजेश कुमार ने बताया कि क्षेत्र में उद्यान, खेल मैदान न होने से बच्चों के पास खेलने कोई जगह नहीं है। अनिकेत सिंह ने बताया कि क्षेत्र में ड्रेनेज सिस्टम व्यवस्थित नहीं हुआ। घनी बस्तियों में मूलभूत सुविधाएं भी नहीं

 

BJP Ex minister, BJP MLA ticket cancelled, vidhan sabha election 2018, mp vidhan sabha election date,  <a href=Congress candidates list 2018" src="https://new-img.patrika.com/upload/2018/09/12/congress_2_3400158-m.jpg">

बूथ क्रमांक 107
मतदान केन्द आरएस बेला सिंह स्कूल

कांग्रेस को मिले वोट 648
भाजपा को मिले वोट 138
इस इस बूथ पर दुर्गा मंदिर, चिमनी प्लॉट और नरसिंहवार्ड के मतदाता ज्यादा हैं। ज्यादातर क्षेत्र विकसित है। पार्षद भी कांग्रेस का होने के कारण विधानसभा चुनावों में भी वोट पार्टी के पक्ष में हैं। वर्तमान में इस बूथ पर कुछ बदलाव हुए हैं। दुर्गा मंदिर, गुजराती कॉलोनी और नागपुर रोड से लगा क्षेत्र में सडक़ें और नालियों का निर्माण हुआ है। इस बूथ में व्यापारी वर्ग भी बहुतायत संख्या में हैं। मुख्य मार्ग पर इनके प्रतिष्ठान हैं। 2013 में इस बूथ पर कांग्रेस उम्मीदवार तरुण भनोत को सर्वाधिक 648 वोट मिले थे। विरोधी भाजपा उम्मीदवार और प्रदेश शासन में मंत्री रहे हरेन्द्रजीत सिंह बब्बू को यहां 138 वोट मिले। हालांकि, बब्बू इस क्षेत्र में सक्रिय रहते हैं।

इसी तरह मौजूदा विधायक भी कुछ मौकों पर यहां आए। लेकिन, ऐसे मौके कम नजर आए। ज्यादातर इलाका नरसिंह वार्ड में आता है। यहां पर क्षेत्रीय पार्षद पूजा रजक कांग्रेस पार्टी से हैं। इसलिए विधायक के लिए ज्यादा मशक्कत नहीं रही। इस क्षेत्र में साफ-सफाई और कुछ जगहों पर नाले और नाली का निर्माण बड़ी समस्या है। दुर्गा मंदिर निवासी रमेश चंद्र ने बताया कि साफ-सफाई की स्थिति बेहतर नहीं है। विधायक कम नजर आते हैं। टपरिया बस्ती निवासी शिव कुमार एवं बब्लू सतनामी ने कहा कि बस्ती में गंदगी है। नालिया नहीं बनीं। चिमनी प्लाट निवासी किशन पटेल का कहना है कि क्षेत्र का नाला पक्का नहीं हुआ।

Published On:
Sep, 12 2018 01:28 PM IST