चेक साइन करते समय ध्यान दें, कहीं आपका चेक अवैध तो नहीं

By: Manish Ranjan

Updated On:
21 Sep 2017, 01:46:58 PM IST

  • 30 सिंतबर के बाद पुराने बैंक के चेक और आईएफस कोड अवैध हो जाएगा। इसके बाद से आपका पुराने बैंक का चेक अमान्य हो जाएगा।

नई दिल्ली। यदि आपके पास एसबीआई के 5 पूर्व सहयोगी बैंको और भारतीय महिला बैंक का चेक बुक है तो यह चेक 30 सितंबर के बाद से अमान्य हो जाएगा। इसको लेकर बैंक ने अपने ग्राहकों को तुरंत प्रभाव से नए चेकबुक का आवेदन करने के लिए कहा है। ऐसा इसलिए क्योंकि 30 सिंतबर के बाद पुराने बैंक के चेक और आईएफस कोड अवैध हो जाएगा। इसके बाद से आपका पुराने बैंक का चेक अमान्य हो जाएगा।

 

ये चेकबुक होंगे अवैध

एसबीआई ने नए चेक के आवेदन के लिए अपने ग्राहकों से कहा है कि वो इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग, एटीएम या फिर बैंक शाखा जाकर आवेदन करें। आपको बता दें अभी कुछ दिन पहले ही कई सहयोगी बैंको का विलय स्टेट बैंक ऑफ इंडिया मे हुआ था। ये बैंक स्टेट बैंक ऑफ बीकानेर एंड जयपुर , स्टेट बैंक ऑफ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर और भारतीय महिला बैंक शामिल हैं। स्टेट बैंक ऑफ मैसूर मे एसबीआई का 90 फीसदी हिस्सा, बीकाने एंड जयपुर में 75.07 फीसदी हिस्सा और स्टेट बैंक ऑफ त्रावणकोर में 79.09 फीसदी का हिस्सा है।


एसबीआई ने उन्नति क्रेडिट कार्ड की शुरूआत

एसबीआई ने उन्नति के्रडिट कार्ड की भी शुरूआत की हैं। बैंक ने इसके बढ़ावा देने के लिए पहले चार साल तक ये सेवा पूरी तरह से मुफ्त रखा है। दूसरे क्रेडिट कार्ड की तरह ही इसके प्रयोग पर भी आपको रिवॉर्ड प्वाइंट मिलेंगे। इस कार्ड के प्रयोग पर प्रति 100 रुपए पर आपको एक रिवॉर्ड प्वाइंट मिलेगा जिसे आपको बाद में रीडिम करने के बदले गिफ्ट दिए जाएंगे। इसके साथ ही यदि आप एक वर्ष में 50 हजार रुपए से ज्यादा खर्च किया है तो आपको इसके लिए 500 रुपए का कैशबैक भी मिलेगा। लेकिन ये कार्ड सिफ उन्ही ग्राहकों के लिए होगा जिन्होने एसबीआई के अपने खातों में 25 हजार या उससे ज्यादा की एफडी करवाई है। ग्राहक अपने इस के्रडिट कार्ड का इस्तेमाल दुनियाभर के दो करोड तीस लाख आउटलेट मे कर सकते है, जिनमे से तीन लाख पच्चीस हजार आउटलेट भारत मे है।

 

Updated On:
21 Sep 2017, 01:46:58 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।