अब हर जिले में तैनात होंग आयकर सलाहकार, रिटर्न भरना सबके लिए मुमकिन

manish ranjan

Publish: Sep, 12 2017 09:32:00 (IST)

Industry

आयकर विभाग ने 7,600 अतिरिक्त टीआरपी की नियुक्ति का प्रस्ताव किया है। खास बात यह है कि इन सलाहकारों की सेवा मोबाइल एप पर भी उपलब्ध होगी।

नई दिल्ली। मौजूदा टैक्स प्रणाली में सुधार लाने के लिए इनकम टैक्स विभाग बीते कुछ महीनों से नए नए प्रयोग कर रही है। सरकार अब चाहती है देश के हर हिस्से से ज्यादा से ज्यादा लोग टैक्स भर सकें। गौरतलब है कि बड़े शहरों को छोडक़र देश के बाकी हिस्से की बात करें तो वहां कई लोगों के लिए इनकम टैक्स रिटर्न भरना अभी भी टेढ़ी खीर है। आयकर विभाग जल्द ही देश के प्रत्येक जिले में छोटे करदाताओं को आयकर रिटर्न भरने में मदद के लिए कम-से-कम एक प्रशिक्षित व्यक्ति की नियुक्ति करने जा रहा है। जो लोगों को टैक्स भरने में मदद करेगा। इसके लिए आयकर विभाग ने 7,600 अतिरिक्त टीआरपी की नियुक्ति का प्रस्ताव किया है। खास बात यह है कि इन सलाहकारों की सेवा मोबाइल एप पर भी उपलब्ध होगी। ताकि चार्टड अकाउंटेट या दूसरे टैक्स प्रोफेशनल के पास न जाना पड़े और आम आदमी आसानी से अपनी टैक्स रिटर्न भर सके। आयकर विभाग के पास अभी फिलहाल 5400 टैक्स रिटर्न प्रीपेयर है जिसे बढ़ाकर 13000 करने का प्रस्ताव दिया है।


1 जिले में बढ़ेंगें 10 सलाहकार

केंद्रीय प्रत्यक्ष कर बोर्ड ने 2006 की टैक्स रिटर्न प्रीपेयरर योजना को डिजिटल रूप देने और देश के सभी 708 जिलों को शामिल करने का फैसला किया है। आयकर विभाग ने करीब 7600 नए सलाहकार नियुक्तकरने की योजना बनाई है। इस लिहाज से हर राज्य को 10 नए सलाहकार मिलेंगे जो वहां के लोगों की मुश्किलें दूर करने में मदद करेंगे। आयकर विभाग के प्रस्ताव के मुताबिक हर जिले में ३-१० टीआरपी होंगे।


ऐसे होगी मदद

इसका मकसद चार्टर्ड अकाउंटेंट के पास गए बिना करदाताओं को कर रिटर्न फाइल करने को सुगम बनाना है। आयकर विभाग सभी 7,600 नए टीआरपी को प्रशिक्षित करेगा जिसके बाद कर विभाग इनकी नियुक्ति की जाएगी।


56 लाख नए करदाता

टैक्स विभाग के आंकड़ों के मुताबिक पिछले साल करीब 2.23 करोड़ लोगों नें टैक्स जमा किया था जबकि इस साल यह आंकड़ा बढक़र २.७९ करोड़ हो चुका है।

Web Title "Income tax adviser to be appointed in each district"