बिक रही है देश की 113 साल पुरानी कंपनी, आज भी चलता है हर घर में सिक्का

By: Saurabh Sharma

|

Published: 11 Jan 2019, 02:12 PM IST

इंडस्‍ट्री

नर्इ दिल्ली। देश में वैसे 100 से ज्यादा साल पुरानी कर्इ कंपनियां हैं। जो चल भी रही हैं आैर अपने प्रोडक्ट्स हो बेच भी रही हैं। इनमें से एक कंपनी बिकने जा रही है। करीब 113 साल पुरानी इस कंपनी का नाम एवरेडी। बीएम खैतान की अगुवाई वाली विलियम्सन मैगर अपनी फ्लैगशिप कंपनी एवरेडी इंडस्ट्रीज को बेच रही है। एवरेडी ड्रार्इ सेल बैटरीज और फ्लैश लाइट्स सेक्टर की सबसे बड़ी कंपनी है। इस इंडस्ट्री के लिए बोली तक मंगार्इ जा रही है। इंडस्ट्री के प्रमोटर बीएम खैतान के पास 45 फीसदी शेयर्स हैं।

इसलिए बेच रहे हैं प्रमोटर्स
एवरेडी ड्रार्इ सेल बैटरीज और फ्लैश लाइट्स इंडस्ट्री के प्रमोटर्स बीएम खैतान बैटरी की बिक्री सुस्त पड़ने के कारण 1,500 करोड़ रुपए के कारोबार की समीक्षा में जुट गए हैं। ग्रुप कंपनियों में दुनिया की सबसे बड़ी बल्क टी प्रॉड्यूसर मैकलियॉड रसेल, किलबर्न इंजीनियरिंग और मैकनैली भारत आदि शामिल हैं। आपको बता दें कि एवरेडी बैटरी हर घर में इस्तेमाल होने वाली बैटरी है। देश की बैटरी आैर फ्लैशलाइट्स मार्केट में उसकी मोनोपाॅली रही है।

113 साल पुरानी कंपनी मार्केट वैल्यू 1,350 करोड़ रुपए
एवरेडी ब्रांड करीब 100 से भी ज्यादा पुराना है। 1905 से इस पर यूनियन कार्बाइड इंडिया का मालिकाना था। खैतान परिवार ने 90 के दशक की शुरुआत में इसे अपने कब्जे में लेने के लिए बांबे डाइंग से कानूनी लड़ार्इ जीतने के बाद 300 करोड़ रुपए में अपने नाम की। मौजूदा समय की बात करें तो एवरडी का शेयर प्राइस पिछले साल के मुकाबले आधा हो गया है। ताजा मार्केट वैल्यू 1,350 करोड़ रुपए है।

एवरेडी बनाती है 120 करोड़ रुपए एवरेडी
प्राप्त जानकारी के अनुसार पहले विकल्प के रूप में कंपनी के प्रमोटर्स एक स्ट्रैटिजिक पार्टनर की तलाश करेंगे, जो उनके कुछ शेयर खरीद ले। एक सूत्र ने बताया, 'सब ठीक-ठाक रहा तो वे अपना 30 फीसदी शेयर बेच देंगे, जबकि 10 से 15 फीसदी शेयर अपने पास रखेंगे।' एवरेडी हर साल 1 अरब 20 करोड़ से ज्यादा बैटरी और 2.5 करोड़ फ्लैशलाइट बेचती है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।