सोडे से दांत घिसना पड़ सकता है महंगा

By: Hussain Ali

Published On:
Aug, 12 2019 01:55 PM IST

  • इंडियन एकेडेमी ऑफ एस्थेटिक एंड कॉस्मेटिक डेन्टिस्ट्री की कॉन्फे्रंस का समापन

इंदौर. इंडियन एकेडमी ऑफ एस्थेटिक एंड कॉस्मेटिक डेन्टिस्ट्री द्वारा आयोजित 28वीं एनुअल कॉन्फ्रेंस 2019 का समापन रविवार को हुआ।?कॉन्फेंस के अंतिम दिन ऑर्गनाइजिंग चेयरपर्सन डॉ. रुम्पा विग ने बताया, आम भ्रांति है कि सोडे को दांतों पर घिसने से दांत साफ हो जाता है, जबकि यह गलग है।

must read : भाजपा पार्षद पूजा पाटीदार ने जीवित रहते पूर्व केंद्रीय मंत्री जेटली को दे दी श्रद्धांजलि और फिर...

उन्होंने कहा, सोडा अलग-अलग पीएच स्तर के लिए अलग-अलग तरह से काम करता है, इसलिए सभी पर इसका असर अलग होता है। गलत उपयोग से दांतों की ऊपरी परत यानी इनेमल को नुकसान पहुंचता है और दांत सेंसिटिव हो जाते हैं, जिससे कुछ भी गर्म-ठंडा दांतों में लगने लगता है। उन्होंने कहा, ज्यादातर लोग हाथ आगे-पीछे करते हुए ब्रश करते हैं, जिससे दांत सिर्फ घिसते हैं, लेकिन उनकी सफाई नहीं होती।

must read : मायके गई पत्नी, लोगों ने वाट्सएप पर फैला दी प्रेमी संग भागने की अफवाह, अब सब जाएंगे जेल

कम्प्यूटर के जरिए कुछ ही घंटों में बनने लगेंगे नकली दांत: आज नकली दांत बनाने के लिए दो तकनीक उपलब्ध हैं। पहली एनालॉग, जिसमे मेनुअल तरीके से दांतों का नाप लेकर लैब में दांत तैयार होता है। फिलहाल यही तरीका प्रचलित है, क्योंकि यह अपेक्षाकृत सस्ता है। दूसरा ज्यादा आधुनिक व सटीक है डिजिटली कम्प्यूटर के जरिए नकली दांत तैयार करने का। दोनों तकनीकों पर त्रिवेंद्रम से आए डॉ. सेगिन चंद्रन और दिल्ली से आए डॉ. सुशांत उमरे ने चर्चा की।

उन्होंने बताया, डिजीटल तकनीक में इंट्रा ओरल स्कैनर के जरिए बत्तीसी का नाप लेकर सीधे मिलिंग मशीन में भेज दिया जाता है, जिससे बिलकुल सटीक नाप का दांत बनता है। इस तकनीक से सिर्फ कुछ ही

घंटों में दांत बनकर मरीज को लगाने के लिए तैयार हो जाता है, जबकि पुरानी तकनीक 3 से 4 दिन का समय लेती है। इससे इसका लाभ सिर्फ एक तबके तक सीमित न रहकर आम जनता को भी मिल पाएगा।

Published On:
Aug, 12 2019 01:55 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।