आंबेडकर स्मारक की आधारशीला रखने महू आए थे पूर्व मुख्यमंत्री पटवा

  • सोसायटी के डॉ. बाबा साहेब आम्बेडकर मेमोरियल सोसायटी की ओर से उन्हें विनम्र श्रद्धाजलि दी गई।

इंदौर. मप्र के पूर्व और मप्र भाजपा के प्रथम मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवार का बुधवार को दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। वे 92 वर्ष के थे।
पटवा को बुधवार सुबह नींद में ही हार्ट अटैक आया, इसके बाद निजी अस्पताल में उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।
पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा ने दिनांक 14 अप्रैल 1991 को इंदौर के समीप बाबा साहेब डॉ. भीम राव आंबेडकर की जन्म भूमि पर आंबेडकर स्मारक बनाने की आधारशीला रखी थी। इस दौरान उनके साथ अटल बिहारी बाजपेई भी थे। आंबेडकर स्मारक पर उनके निधन की खबर से शोक का माहौल है। सोसायटी के सचिव मोहन राव वाकोड़े ने बताया कि डॉ. बाबा साहेब आम्बेडकर मेमोरियल सोसायटी की ओर से उन्हें विनम्र श्रद्धाजलि दी गई।



1957 में पहली बार बने थे विधायक
सुंदरलाल पटवा 20 जनवरी 1980 से 17 फरवरी 1980 और 5 मार्च 1990 से 15 दिसंबर 1992 तक दो बार मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। 1957 में वे पहली बार विधायक चुने गए थे। पटवा के निधन पर मध्यप्रदेश में तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया है। पूर्व मुख्यमंत्री पटवा शिवराज सिंह चौहान के राजनीतिक गुरु भी रहे हैं।

babasaheb bhimrao ambedkar smarak mhow

पटवा ने रखी थी आधारशीला, पीएम भी आ चुके है यहां
डॉ. बाबा साहेब आम्बेडकर मेमोरियल सोसायटी के सचिव मोहन राव वाकोड़े ने बताया कि सोसायटी संस्थापक अध्यक्ष भन्ते संघशील ने 27 मार्च 1991 को सोसायटी के बैठक बुलाई, जिसमे तय किया गया था, कि स्मारक का भूमिपूजन करने के लिए मुख्यमंत्री सुदरलाल पटवा को आमन्त्रित किया गया, जिसकी सूचना मुख्यमंत्री को दी गई। जन्मभूमी पर निर्माण स्मारक के नक्शे वास्तुविद ईडी निमगड़े द्वारा तैयार किए गए जयंती समारोह की तैयारी शुरू की गई। बाबा साहेब का पवित्र अस्थि कलश लाने के लिए भंतेजी मुंबई गये शासन से दस हजार रु 10 000 अनुदान लेकर अस्थिकलश क्रय किया। मुम्बई में पीपल्स एज्युकेशन सोसायटी के घनशायम तलवटकर और न्यायमूर्ति आर आर भोले से मुलाकात की भन्ते जी बाबा का अस्थिकलश लेकर 12 अप्रैल 1991 को महू आए। शिलान्यास कार्यक्रम के लिए दो दिन शेष थे तत्कालीन कलेक्टर अय्यर और एस पी ने माकूल बंदोबस्त किया। 14 अप्रैल 1991 का पवित्र दिन बाबा साहेब 100 वी सोवण जयंती स्मारक का मुख्यंमंत्री सुंदरलाल पटवा शिलायन्यास किया उनके साथ मान अटल बिहारी बाजपेई और मंत्री भेरूलाल पाटीदार अध्यक्षता भन्ते धर्मशील ने की थी। उनके सपनो सरकार ने आगे बढ़ाया एक सुदर स्मारक है जहाँ पर प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी 125 वीं जयंती पर आ चुके है।

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।