VIDEO : बरस गया ये तगड़ा सिस्टम तो प्रदेश में मचेगा हाहाकार, नर्मदा का पुल डूबा, मौसम विभाग ने कहा- सतर्क रहो

By: Hussain Ali

Updated On:
25 Aug 2019, 02:30:26 PM IST

    • मौसम का जो रुख साफ बता रहा है कि फिलहाल बारिश रुकने वाली नहीं है।
    • पूरे इंदौर संभाग में तेज बारिश की संभावना बनी हुई है।
    • 24 घंटे में पश्चिमी मध्यप्रदेश में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है।
    • अधिकारियों-कर्मचारियों को भी अलर्ट पर रखा गया है।

इंदौर. शनिवार शाम हुई झमाझम बारिश ( heavy rain ) के बाद रातभर रुक-रुककर बारिश हुई। इसके साथ 24 घंटे में करीब डेढ़ इंच और कुल मिलाकर करीब ३1 इंच बारिश हो चुकी है। इधर, इंदौर से लेकर भोपाल और खंडवा-खरगोन तक घने बादल छाए हुए हैं और इसके साथ जबर्दस्त कम दबाव का और चक्रवाती सिस्टम बना हुआ है। 24 घंटे में पश्चिमी मध्यप्रदेश ( western madhya pradesh ) में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है। अगर भारी बारिश होती है तो प्रदेश में एक बार फिर नदी-नाले उफान पर आने से हाहाकार मच सकता है।

VIDEO : बरस गया ये तगड़ा सिस्टम तो प्रदेश में मचेगा हाहाकार, नर्मदा का पुल डूबा, मौसम विभाग ने कहा- सतर्क रहो

कल शाम से लगातार बारिश हो रही है और इसके चलते मौसम पूरी तरह ठंडा हो गया है। हवा में नमी का स्तर करीब शत-प्रतिशत है। मौसम का जो रुख साफ बता रहा है कि फिलहाल बारिश रुकने वाली नहीं है। मौसम खुलने के लिए एक-दो दिन का इंतजार और करना होगा। दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश में खरगोन, खंडवा, बुरहानपुर से इंदौर और उज्जैन से लेकर धार तक तगड़ा सिस्टम बन रहा है।

VIDEO : बरस गया ये तगड़ा सिस्टम तो प्रदेश में मचेगा हाहाकार, नर्मदा का पुल डूबा, मौसम विभाग ने कहा- सतर्क रहो

इसके पूरे इंदौर संभाग में तेज बारिश की संभावना बनी हुई है। मौसम विभाग की तरफ से अलर्ट जारी करते हुए सचेत रहने को कहा गया है। वहीं प्रशासन और स्थानीय निकाय के अधिकारियों-कर्मचारियों को भी बारिश की संभावना को लेकर अलर्ट पर रखा गया है।

नर्मदा नदी पर मुगलकालीन पुल डूबा

ओंकारेश्वर में बांध के गेट खोलने के बाद खलघाट में रविवार को पानी में बढ़ोतरी हुई,जिससे नर्मदा पर स्थित मुगलकालीन पुल जलमग्न हो गया। साथ-साथ मंदिर भी डूब गए। विगत दिवस प्रशासन ने लोगों को बढ़ते हुए पानी को लेकर अलर्ट किया था। विधायक पाचीलाल मेड़ा ने भी इस संबंध में निर्देश दिए थे कि अब बढ़ते हुए पानी को देख प्रशासन वहां पर मुस्तैद है। बताया गया कि विगत आठ दिन से लगातार पानी में बढ़ोतरी हो रही है। आसपास के रहने वाले लोगों को भी प्रशासन ने मुनादी सतर्क रहने के लिए चेतावनी दी है।

VIDEO : बरस गया ये तगड़ा सिस्टम तो प्रदेश में मचेगा हाहाकार, नर्मदा का पुल डूबा, मौसम विभाग ने कहा- सतर्क रहो

दिन और रात का तापमान बराबर

लगातार हो रही बारिश ने दिन और रात के तापमान को लगभग बराबर कर दिया। दिन में अधिकतम तापमान जहां सामान्य से दो डिग्री नीचे होकर कल जहां 26.7 डिग्री था, वहीं आज सुबह का तापमान 21.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। माना जा रहा है कि आज दिन में भी पारा 21-22 डिग्री के आसपास ही रहेगा।

VIDEO : बरस गया ये तगड़ा सिस्टम तो प्रदेश में मचेगा हाहाकार, नर्मदा का पुल डूबा, मौसम विभाग ने कहा- सतर्क रहो

बारिश के चलते ट्रेनों का मेंटेनेंस हो रहा प्रभावित

इंदौर रेलवे स्टेशन से जाने वाली ट्रेनों का मेंटेनेंस कोचिंग डिपो में किया जाता है, लेकिन शनिवार दोपहर से हो रही तेज बारिश के चलते पिट लाइन में पानी भरा गया है, जिससे के चलते ट्रेनों में मैकेनिकल काम प्रभावित हो रहा है। जानकारी के अनुसार तेज बारिश के चलते पिट लाइन के निचले हिस्सों में दो फिट तक पानी भर गया है। इसके चलते ट्रेनों का मेंटेनेंस करने वाले कर्मचारियों को ट्रेन के कलपुर्जे बदलने में दिक्कत आ रही है। इस दौरान जहरीले जीव-जंतु भी पानी के साथ पिट लाइन में आ रहे हैं। कल रात को भी एक ट्रेन के मेंटेनेंस के दौरान कर्मचारियों को काफी दिक्कत आई। यहां कर्मचारियों ने काम किया, लेकिन छोटे-मोटे पाट्र्स बदलने में काफी समय लग गया। उल्लेखनीय है कि एक टे्रन का मेंटेनेंस करने में कम से कम 6 घ्ंाटे का समय लगता है, जिसमें ट्रेन की साफ-सफाई के साथ ही मैकेनिकल काम करना होता है। इस काम के लिए कर्मचारियों को पिट लाइन के नीचे जाना पड़ता है। एक कर्मचारी ने बताया कि पिट लाइन से पानी निकासी के लिए मोटर लगी है, लेकिन जिस गति से पानी पिट लाइन में आ रहा था, मोटर काम नहीं कर पा रही थी। इसलिए हमें पानी में उतर कर ही काम करना पड़ रहा है, जबकि गत वर्ष बनी दोनों नई पिट लाइन में बेहतर व्यवस्था है। अधिकांश ट्रेनों को भी इसी पिट लाइन में मेंटनेंस के लिए लाया जा रहा है।

Updated On:
25 Aug 2019, 02:30:26 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।