भूत-प्रेतों के साथ दर्शन देने निकले महादेव, जम्मू-कश्मीर के संत ने दिया भक्तों को आशीर्वाद

By: Reena Sharma

Updated On:
13 Aug 2019, 01:41:10 PM IST

  • गुटकेश्वर महादेव की शोभायात्रा

इंदौर. श्रावण मास के अंतिम सोमवार को किला मैदान से भगवान गुटकेश्वर महादेव की भव्य शाही सवारी निकाली गई। शाही सवारी में भगवान गुटकेश्वर भूत-प्रेतों के साथ भक्तों को दर्शन देने निकले। वीआईपी रोड किला मैदान से निकली भगवान गुटकेश्वर की सवारी में उज्जैन महाकाल की सवारी का नजारा भक्तों को देखने को मिला। सवारी में झांझ-मजीरों की टोली ने ऐसा रंग जमाया के भक्तों को भी थिरकने पर विवश कर दिया।

 

indore

भगवान की इस शाही सवारी में महिला ने भी करतब दिखाकर सभी को दिल जीत लिया। शाही सवारी में जम्मू-कश्मीर के संत के साथ ही इंदौर का संत समाज भी भक्तों को अपना आशीष प्रदान करते हुए इस सवारी में शामिल थे। यात्रा में 1100 से अधिक महिलाएं सिर पर कलश धारण कर हर-हर महादेव का जयकारा लगाते हुए चल रही थी। श्री गुटकेश्वर धाम सदगुरु परिवार न्यास अध्यक्ष धीरज शुक्ला ने बताया श्रावण मास के अंतिम सोमवार को निकली। गुटकेश्वर महादेव फू लों से सुसज्जित रथ में सवार होकर सभी भक्तों को दर्शन देने निकले। सवारी के अग्र भाग में भूत-प्रेत भी शामिल हुए।

must read : जरा संभलकर खरीदे मिठाई, 70 किलो फंगस लगा मावा किया नष्ट, गंदगी के बीच बन रही मिठाई

indore

श्रावण के अंतिम सोमवार को पूरा शहर शिव भक्ति में डूबा रहा। शहर के प्रमुख मंदिर जबरेश्वर महादेव, इंद्रेश्वर महादेव, भूतेश्वर महादेव, गोपेश्वर महादेव, कांटा फोड़ मंदिर, गेंदेश्वर महादेव आदि में कहीं फूल बंगला तो कहीं हिंडोला महल तो कहीं कैलाश पर महादेव विराजे। सुबह से लेकर देर रात कर दर्शन के लिए भीड़ रही।
भूतेश्वर महादेव मंदिर से भूतेश्वर महादेव की सवारी में भक्त भजनों पर थिरकते रहे। मंदिर परिसर से शुरू हुई यात्रा राजबाड़ा, जवाहर मार्ग, राजमोहल्ला होते हुए वापस मंदिर पहुंची। विद्याधाम आश्रम से भगवान सिद्धेश्वर महादेव की शोभायात्रा वापस मंदिर परिसर पहुंची।

must read : 2 साल की बच्ची से की अश्लील हरकत, मासूम चिल्लाई तो जमा हो गए लोग और फिर हुआ ये...

indore

विजयेश्वर महादेव : तोप से सलामी

नंदानगर स्थित विजयेश्वर महादेव मंदिर से आखिरी सावन सोमवार को शाही सवारी निकली। विजयेश्वर महादेव फू लों से सजे रथ में सवार होकर भक्तों को दर्शन देने नगर भ्रमण पर निकले।नासिक से आए सरगम ढोल ताशा के 50 से अधिक सदस्यों का दल आकर्षण का केंद्र रहा।

must read : VIDEO : पीटीसी में हुई 15 अगस्त की तैयारियां, स्वास्थ्य मंत्री तुलसी सिलावट होंगे मुख्य अतिथि

सुबह पंडितों व आचार्यो ने वेद मंत्रों के साथ भगवान का अभिषेक कर सुख-समृद्धि की कामना की। नंदानगर से महाआरती के साथ तोपों से बाबा को सलामी देकर सवारी प्रारंभ हुई। मंदिर समिति के अध्यक्ष हेमंत शिंदे व सचिव हरीश ओवे ने बताया, उज्जैन से आए 41 सदस्यों की युवा टीम झांझ-मंजीरे बजाते चली। चैन्नई से चलित झांकीं में कलाकार कालका माता, पंचमुखी हनुमान, भोलेनाथ, मां दुर्गा का वेष धारण कर मनमोहक प्रस्तुति देते चले। अखाड़ा में कालाकोरं ने शस्त्र कला का प्रदर्शन किया।

must read : लडक़ी लेकर भागा पोता, नाराज परिजनों ने कर दी दादी की पिटाई, घर में की तोडफ़ोड़

राजस्थान की महिलाओं ने भजनों पर नृत्य की प्रस्तुति दी। आदिवासी मंडली भी नृत्य करते चली। सवारी का जगह-जगह गुलाब की पंखुडियों से स्वागत हुआ। सवारी में नाग महाराज व भोलेनाथ के अभिषेक की झांकियां आकर्पण का केंद्र रहीं। सवारी अनूप टाकीज, पाटनीपुरा चौराहा, तीन पुलिया से नंदानगर होते हुए मंदिर परिसर पहुंची। समापन पर फ लाहारी प्रसादी वितरण हुआ। टीवी कलाकार अंतरा बैनर्जी ने विजयेश्वर महादेव का पूजन किया।

Updated On:
13 Aug 2019, 01:41:10 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।