डिजास्टर मैनेजमेंट और मॉस कम्यूनिकेशन की खाली रह गईं 20 फीसदी सीटें

By: Hussain Ali

Published On:
Aug, 13 2019 03:04 PM IST

  • - डीएवीवी के 65 कोर्स की 88 प्रतिशत सीटें भरी, 18 में एडमिशन अब भी बाकी,खाली सीटों को भरने के लिए बिना रजिस्ट्रेशन वाले छात्रों को दिया जाएगा मौका

इंदौर. देवी अहिल्या विश्वविद्यालय (डीएवीवी) के विभिन्न विभागों में संचालित होने वाले 65 कोर्स की 88 प्रतिशत सीटों पर एडमिशन प्रक्रिया पूरी हो गई है। जबकि 18 से अधिक कोर्स ऐसे हैं, जिन पर दाखिला होना बाकी है। खास बात यह है कि ग्रुप बी 1 में आने वाले एमबीए (डिजास्टर मैनेजमेंट), ई कॉमर्स, टूरिज्म, एमए (मास कम्युनिकेशन) बैचलर ऑफ जर्नलिज्म, एमबीए रूरल मैनेजमेंट और पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन जैसे कोर्सों की 20 फीसदी सीटें खाली रह गई हैं।

must read : भाजपा कार्यकर्ता ने गृहमंत्री अमित शाह को खून से लिखा खत, जानिए क्या है पूरा मामला

एमएससी और एलएलएम की खाली सीटों के लिए भी मंगलवार को कॉलेज लेवल काउंसलिंग के जरिए दाखिला दिया जाएगा। अलग-अलग विभाग अपने स्तर पर प्रक्रिया करेंगे। खाली सीटों को देखते हुए विश्वविद्यालय प्रशासन ने अब इन कोर्सों में बिना रजिस्ट्रेशन वाले विद्यार्थियों को भी मौका देने का फैसला किया है। हालांकि, प्रमुख विभाग के 90 फीसदी कोर्स की सीटें फुल हो गई हैं। आईआईपीएस, आईएमएस, ईएमआरसी और स्कूल ऑफ इकॉनोमिक्स से संचालित कोर्स को लेकर विद्यार्थियों में खासा रूझान है। ग्रुप बी1 में भी कुछ कोर्स की सीटों पर एडमिशन होना है। इसके लिए कुलपति प्रो. रेणु जैन ने विभागाध्यक्षों की बैठक बुलाई है। माना जा रहा है, इन कोर्स के लिए एक और सीएलसी राउंड करवाया जाएगा। निर्णय लेने के बाद विश्वविद्यालय प्रशासन सीएलसी को लेकर अधिसूचना जारी करेगा।

Published On:
Aug, 13 2019 03:04 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।