तेलुगु राज्य भी भारत बंद में हुए शामिल,दिखा प्रदर्शन का मिलाजुला असर

By: Prateek Saini

Published On:
Sep, 10 2018 06:32 PM IST

  • कुछ प्रदर्शनकारी साइकिल रिक्शा चला रहे थे तो कुछ बाइकों को रस्सी से खींच कर अपना क्रोध व्यक्त कर रहे थे...

(हैदराबाद): विपक्ष की तरफ से बुलाए गए भारत बंद का प्रभाव तेलुगु राज्यों तेलंगाना तथा आंध्र प्रदेश में भी रहा। कांग्रेस, टीडीपी, सीपीआईएम के अलावा एआइटीयुसी, इतर ट्रेड यूनियन ने बंद का समर्थन किया। करीमनगर, वरंगल, विजयवाड़ा, विशाखापटनम में बंद का अधिक प्रभाव दिखा। परन्तु हैदराबाद में इसका ज्यादा असर नहीं देखा गया।

 

आंध्रप्रदेश सरकार ने दी राज्य को विशेष सौगात

उधर, आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री चंद्रबाबू नायडू ने पेट्रोल और डीजल के दामों में वेट घटा दिया जिससे दाम 2 रूपए कम हो गए। इससे 1100 करोड रुपए का अतिरिक्त भार खजाने पर पडेगा। सभी विपक्षी दलों के कार्यकर्ताओं ने सडकों पर प्रदर्शन किया। कुछ प्रदर्शनकारी साइकिल रिक्शा चला रहे थे तो कुछ बाइकों को रस्सी से खींच कर अपना क्रोध व्यक्त कर रहे थे। एक रैली में महिला प्रदर्शनकारी ने साइकिल रिक्शा चलाकर विरोध व्‍यक्‍त किया। कुछ लोग पत्तों के कपडे पहन कर अर्धनग्न सड़कों पर घूमे। कुछ जगहों पर रेल गाड़ियों को भी रोका गया। बंद में महिला अफसर भी बड़ी संख्या में ड्यूटी पर तैनात थीं ।

हैदराबाद में कम रहा बंद का असर

हैदराबाद में आरटीसी बस व ऑटो चले तो स्कूल और पेट्रोल पंप भी खुले । दुकाने भी खुली और लोग हमेशा की तरह अपने कामकाज में व्‍यस्‍त नजर आए । टीपीसीसी अध्यक्ष उत्तम कुमार रेड्डी ने सुबह 10:30 बजे दिलसुखनगर बस डिपो से भारत बंद रैली में भाग लिया । टीडीपी भी कांग्रेस के इस फैसले का समर्थन कर रही है । टीडीपी ने पेट्रोल और डीजल की कीमत बढ़ने के खिलाफ भारत बंद का खुल कर समर्थन किया । टीडीपी तेलंगाना अध्यक्ष एल.रमना और दूसरे नेताओं ने आज सुबह हैदराबाद टीडीपी सिटी ऑफिस, इंदिरा पार्क से एनटीआर घाट तक रैली में भाग लिया ।

यह भी पढे: एयरसेल मैक्सिस केस : कार्ति चिदंबरम की बढ़ीं मुसीबत, पटियाला हाउस कोर्ट ने मांगा जवाब

Published On:
Sep, 10 2018 06:32 PM IST