अलर्ट:आंध्रप्रदेश और तेलंगाना में दो दिनों तक भारी बारिश की चेतावनी

By: Prateek Saini

Published On:
Aug, 21 2018 02:29 PM IST

  • केरल में आए इस प्रलय के देखते हुए पहले ही अन्य राज्यों की सरकारों ने भारी बारिश के बाद आने वाली समस्याओं से निपटने के लिए प्रशासन को योजना बनाने के निर्देश दे दिए है...

(हैदराबाद): मौसम विभाग ने आंध्र प्रदेश में 21 और 22 को भारी बारिश की चेतावनी दी है। इस बीच तेलंगाना के कई ज़िलों में भारी बारिश लगातार जारी है। तेलंगाना और आंध्र प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में भारी बारिश के चलते आंध्र प्रदेश की कृष्णा नदी उफान पर है। अधिकारियों ने नदी को पार न करने की चेतावनी दी है परन्तु लोग अपनी जान जोखिम में डाल रहे हैं। आंध्र प्रदेश के कृष्णा ज़िले में स्थित ताटिगुम्मी गांव के पास लोगों ने कृष्णा नदी को पार करने की कोशिश की, जिनमे 5 लोग डूबते-डूबते बचे। अग्नि विभाग का बचाव दल उन्हें बचाने में सक्षम रहा। केरल के मुख्यमंत्री के आवाहन पर सोमवार को 500 टन चावल केरल भेजने का मुख्यमंत्री केसीआर ने आदेश जारी किया है। केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए तेलंगाना के मुख्यमंत्री के.चंद्रशेखर राव ने 25 लाख रूपए का चेक भेजा था।


बता दें कि इन दिनों केरल भारी बारिश के बाद आई बाढ के कारण मची तबाही से जूझ रहा है। इस बाढ ने केरल की कमर तोड दी है। लाखों लोग राहत शिविरों में रहने को मजबूर है। सेना व राहत दल बाढ प्रभावित इलाकों में फंसे लोगों को निकालने के लिए अथक प्रयास कर रहे है। केरल में आए इस प्रलय के देखते हुए पहले ही अन्य राज्यों की सरकारों ने भारी बारिश के बाद आने वाली समस्याओं से निपटने के लिए प्रशासन को योजना बनाने के निर्देश दे दिए है। मौसम विभाग ने पूर्व में भी तेज बारिश होने का अलर्ट जारी किया था जिसके बाद आंध्रप्रदेश और तेलंगाना सरकार ने अधिकारियों को सर्तक रहने के आदेश दिए थे। एक बार फिर मौसम विभाग ने भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दोनों ही राज्य सरकारों की परेशानी बढा दी है।

यह भी पढे: केरल को 25 करोड़ की सहायता देने की घोषणा के साथ केसीआर ने दिए बारिश को लेकर सर्तक रहने के निर्देश

Published On:
Aug, 21 2018 02:29 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।