मुंबई हादसा: जहां न पहुंच सकती है क्रेन और एंबुलेंस, वहां लोगों ने ऐसे बचाई जान

By: Prakash Chand Joshi

Published On:
Jul, 17 2019 11:27 AM IST

    • मुंबई में काफी समय से हो रही है भारी बारिश
    • पहले भी कई हादसे हो चुके हैं मायानगरी में

नई दिल्ली: पूरा देश गर्मी से काफी परेशान था ऐसे में लोगों को बारिश का बड़ी ही बेसब्री से इंतजार था। बारिश हुई लेकिन मायानगरी मुंबई ( mumbai ) के लिए ये बारिश किसी काल से कम बनकर नहीं आई। मंगलवार को मुंबई में दर्दनाक हादसा हुआ। मूसलाधार बारिश ( rain ) से जूझने के बाद डोंगरी इलाके में 100 साल पुरानी एक चार मंजिला इमारत ढह गई। अब तक इस हादसे में लगभग 14 लोगों की मौत हो गई है और 30 से 40 लोगों के मलबे में दबे होने की आशंका है।

 

mumbai

लोगों ने की मदद

मलबे में दबे 9 घायलों को बाहर निकाला गया। रेस्क्यू ऑपरेशन ( Rescue Operation ) भी चलाया गया है, लेकिन यहां सबसे बड़ा चैलेंज यहां की संकरी गलियां हैं। यहां क्रेन और एंबुलेंस नहीं पहुंच सकती है। ऐसे में यहां के स्थानीय लोगों ने जो किया वो इंसानियत की मिसाल पेश करती है। यहां के लोगों की कुछ तस्वीरें सोशल मीडिया ( social media ) पर वायरल हो रही हैं। डोंगरी इलाके के स्थानीय निवासी लोगों की जान बचाने में लगे हैं। लोगों ने घायलों को एंबुलेंस तक पहुंचाने के लिए मानव श्रृंखला बनाई और लोगों की मदद की।

mumbai mumbai

क्रेन पहुंचती तो बच सकते थे लोग

तस्वीरों में दिख रहा है कि कैसे यहां के स्थानीय लोग मानव श्रृंखला बनाकर ईट और कंक्रीट का मलबा हटा रहे हैं। हालांकि, यहां एनडीआरएफ ( NDRF ) की तीन टीमें, फायर ब्रिगेड, पुलिस और बीएमसी की आपदा प्रबंधन टीम बचाव और राहत कार्य में लगी हुई हैं। लेकिन राज्य के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ( Devendra Fadnavis ) ने बताया कि गली में फायर ब्रिगेड की गाड़ियां नहीं जा पा रही हैं। ऐसे में ये सभी टीमें पैदल ही घटनास्थल पर पहुंचकर रेस्क्यू का काम कर रहे हैं। डोंगरी के ही रहने वाले शाहनवाज कापड़े के मुताबिक, अगर घटना स्थल तक जेसीबी मशीनें पहुचं जाती तो हताहतों की संख्या कम हो सकती थी।

Published On:
Jul, 17 2019 11:27 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।