कश्मीर के मौजूदा हालात के विरोध में IAS गोपीनाथन का इस्तीफा, कहा- मैंने अपनी आवाज खो दी

By: Shiwani Singh

Updated On: 25 Aug 2019, 08:08:24 PM IST

    • कश्मीर को लेकर IAS कन्नन गोपीनाथन ने दिया इस्तीफा
    • कश्मीर की मौजूदा स्थिति से हैं नाराज
    • बाढ़ पीढ़ितों की मदद के बाद चर्चा में आए थे गोपीनाथन

नई दिल्ली। लोगों की मदद के लिए मशहूर केरल कैडर के IAS कन्नन गोपीनाथन ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है। उनके इस्तीफे के पीछे की वजह कश्मीर में चल रहा ब्लैकआउट है। दरअसल, कश्मीर में धारा 370 खत्म होने के बाद वहां माहौल पहले से थोड़ा तनाव भरा है। कई इलाकों में इंटरनेट और फोन सेवाएं अभी भी बहाल नहीं की गई हैं। कश्मीर की मौजूदा स्थिति को IAS कन्नन गोपीनाथन ने मौलिक अधिकारों का हनन बताया है और अपने पद से इस्तीफा दे किया।

यह भी पढ़ें-पति के ज्यादा प्यार करने से परेशान थी महिला, तलाक मांगते हुए कहा-कभी झगड़ते ही नहीं

बता दें कि गोपीनाथन केरल में कई अहम पदों पर काम कर चुके हैं। वे ऊर्जा और अपरंपरागत ऊर्जा स्रोत विभाग के सचिव से लेकर डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर का पद भी संभाल चुके हैं। कश्मीर को लेकर उन्होंने एक मलयाली वेबसाइट से बात की और अपने इस्तीफे के बारे में खुलकर बताया। उन्होंने कहा-

 

bf81b04f-a8ac-426d-bceb-e22d0a52a3b1.jpeg9b6e0a63-80d9-4d62-bad7-23eabec57d0f.jpeg1aacda3e-0b61-4a9b-8ed7-7aa04601bc96.jpeg

गोपीनाथान का कहना है कि मुझसे सवाल पूछा जा रहा है कि मैं इस्तीफा क्यों दे रहा हूं। मेरे खयाल से इस सवाल की जगह यह पूछा जाना चाहिए कि मैं कैसे इस वक्त अपनी नौकरी में बना रहूं। गोपीनाथान के इस्तीफे के बाद मीडिया और सोशल मीडिया में बहस शुरू हो गई है।

यह भी पढ़ें-दमोह के बाद उत्तराखंड में भी टीचर की विदाई पर फूट-फूटकर रोए लोग, ऐसे किया रुखसत

गौरतलब है कि IAS कन्नन गोपीनाथन उस समय चर्चा में आए जब उन्होंने डीएनएच प्रशासन के डिस्ट्रिक्ट कलेक्टर के तौर पर बाढ़ पीढ़ितों की मदद की। उन्होंने बाढ़ से प्रभावित लोगों को हर संभव मदद मुहैया कराई। वे खुद भी लोगों की सहायता में लगे रहे।

Updated On:
25 Aug 2019, 07:44:01 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।