दो दिनों से भूखा था कुत्ता, खाने की खुशबू मिलने से हुआ खूंखार और फिर चबा गया जिंदा इंसान

By: Neeraj Tiwari

Published On:
Dec, 07 2018 03:23 PM IST

  • एक मामला इंग्लैंड के लिवरपुल इलाके में सामने आया है जहां पर कुत्ते ने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया है और वो भी अपने मालकिनों की आंखों के सामने। इन महिलाओं का नाम हेली सुले और डैला वुड्स है।

 

नई दिल्ली। आमतौर पर कुत्ते को इंसान का सबसे अच्छा दोस्त माना जाता है और साथ ही वफादार भी। लेकिन कई बार यही कुत्ते इतने खुंखार हो जाते हैं कि आपको उनसे डरना बेहद जरूरी हो जाता है। ऐसा ही एक मामला इंग्लैंड के लिवरपुल इलाके में सामने आया है जहां पर कुत्ते ने दिल दहला देने वाली घटना को अंजाम दिया है और वो भी अपने मालकिनों की आंखों के सामने। इन महिलाओं का नाम हेली सुले और डैला वुड्स है।

जानकारी के अनुसार इंग्लैंड के लिवरपुल इलाके में एक बुल मास्टिफ डॉग 79 साल के वृद्ध को मारकर खा गया। हैरान करने वाली बात यह है कि यह पूरी घटना कुत्ते की दोनो मालकिनों की आंख के सामने हुई। बाद में दोनों महिलाओं के ऊपर गंभीर आरोप लगाए गए हैं कि अगर वो चाहतीं तो इस घटना को रोक सकतीं थीं। वहीं बाद में दोनों महिलाओं को जेल भेज दिया गया है।

 

दरअसल, इन महिलाओं ने अपने कुत्ते को भरी गर्मी में लगभग 45 घंटे से न तो कुछ खाने को और न ही पीने के लिए पानी दिया था। और सबसे खास बात की कुत्ते को घर के आंगन में खुला छोड़ रखा था। तभी भूख से तड़प रहे कुत्ते को पड़ोस में रहने वाले 80 साल के क्लिफोर्ड क्लार्क के घर से खाने की खुशबू आई। इसी दौरान क्लार्क ने अपनी किचन का पिछला दरवाजा खोला ही था कि कुत्ते ने उनपर हमला बोल दिया और उसे मारकर खा गया।

 

इस बारे में पुलिस का कहना है कि पड़ोस में रहने वाले लोगों ने जैसे ही इस बात की सूचना दी मौके पर पुलिस पहुंच गई और शख्स को बचाने में जुट गई लेकिन कुत्ता इतना आक्रामक था कि उसने पुलिस पर भी उसने हमला कर दिया। बचाव में पुलिस को गोली चलानी पड़ी। वहीं इस मामले में दोनों महिलाओं का कहना है कि घटना के समय वो घर पर नहीं थीं, जबकि स्थानीय लोगों का कहना है कि महिलाएं झूठ बोल रहीं हैं।

 

पुराना है मामला

मामले की सुनवाई करते हुए कोर्ट ने कहा कि इस घटना को रोका जा सकता था। कुत्ते को ऐसी स्थिति में लाना उसके मालिक की गलती है। दोनों महिलाओं पर गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया गया था। हालांकि जज ने कहा कि ऐसी स्थिति में सीधे हत्या का मामला दर्ज नहीं किया जा सकता, क्योंकि ये मानवभूल की वजह से हुआ था। बाद में कोर्ट ने महिलाओं को जेल भेज दिया। बता दें कि यह खबर करीब चार साल पुरानी है पर सोशल मीडिया में एक बार फिर से यह वायरल हो रही है।

Published On:
Dec, 07 2018 03:23 PM IST