कुदरत का नजारा देखने हर दिन पहुंचते हैं हजारों सैलानी, टूटी रैलिंग के बीच ली जाती है सेल्फी

By: Devendra Kumar Awadhiya

Updated On: 25 Aug 2019, 12:03:48 PM IST

  • जोखिम भरा सेल्फी स्पॉट

देवेंद्र अवधिया/होशंगाबाद। यह तवा डैम। यहां के गेट खुलने का हर किसी को इंतजार रहता है। तीन साल बाद जब अगस्त में यहां के गेट खोले गए तो कुदरत के मनमोहक नजारे को देखने के लिए प्रतिदिन हजारों सैलानी तवा डैम पहुंचने लगे हैं। जहां इनके बीच सेल्फी लेने की होड़ भी लगती है। 43 साल पुराने तवा डेम यहां पहुंचने वाले सैलानियों के लिए जोखिम वाला सेल्फी स्पॉट बन गया है। गेट खुलने के दौरान यहां पहुंचने वाले पर्यटक गेटों की छत और रैलिंग पर खड़े होकर सेल्फी लेते हैं। जबकि डेम के सभी गेटों पर लगी रैलिंग टूट रही है। खतरे की आशंका के बाद भी तवा परियोजना विभाग के अधिकारी ध्यान नहीं दे रहे। हालांकि विभाग ने करीब 70 लाख का प्रपोजल तैयार कर मुख्य अभियंता भोपाल को भेजा है।

कुदरत का नजारा देखने हर दिन पहुंचते हैं हजारों सैलानी, टूटी रैलिंग के बीच ली जाती है सेल्फी

1976 में बना था डेम
विभागीय जानकारी के मुताबिक इटारसी के तवा नगर में यह डेम वर्ष 1976 में बना था। डेम की नहरों से होशंगाबाद एवं हरदा जिले को किसानों को रबी फसलों की सिंचाई सहित आर्डिनेंस फैक्ट्री व एचईजी को पानी मिलता है। गेहूं के बंपर उत्पादन में तवा डेम की मुख्य भूमिका रहती है। यही वजह है कि देश में मप्र को कृषि कमर्ण अवॉर्ड भी लगातार मिल रहा है।

सुरक्षा को लेकर हो रही चूक
डेम के प्रतिबंधित गेट एरिया में दोनों तरफ के लोहे के गेट से भी वीआईपी के नाम पर लोगों को वाहन समेत जाने-आने की एंट्री दी जाती है, जबकि यहां सुरक्षा गार्ड तैनात हैं। डेम के सामने के दोनों तरफ के एरिया में पुलिसकर्मी तैनात नहीं रहते। लोग जान जोखिम में डालकर अपने परिवार-बच्चों के साथ रैलिंग पर खड़े होकर मोबाइल से सेल्फी लेते हैं।

प्रपोजल और डिजाइन भेजा है
डेम के गेटों की दोनों तरफ के रैलिंग को नए सिरे बनाने करीब 60-70 लाख रुपए का प्रपोजल मुख्य अभियंता एवं डिजाइन विभाग को भेजा है, जल्द काम शुरू होगा। डेम की सुरक्षा को लेकर गार्ड तैनात रहते हैं।
आईडी कुमरे, एसडीओ तवा परियोजना

Updated On:
25 Aug 2019, 12:03:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।