ऑनलाइन आरक्षित टिकटों पर लगेगा सर्विस चार्ज

By: yashwant janoriya

Updated On:
12 Aug 2019, 06:28:23 PM IST

  • - जल्दी ही रेलवे इसे करेगा लागू

इटारसी. यदि ऑनलाइन से रेल टिकट का आरक्षण कराते हैं, तो आपको जल्दी ही जेब हल्की करनी पड़ेगी। जिससे रेल यात्रा महंगी पड़ेगी। रेलवे, ई-टिकट पर लगने वाले सर्विस चार्ज को फिर से वसूलने की तैयारी कर रही है। यह एक तरह का सुविधा शुल्क है, जो लोगों को घर बैठे टिकट बुक करने पर चुकाना पड़ेगा।
रेलवे के अधिकारियों के अनुसार नोटबंदी से पहले रेलवे स्लीपर क्लास के टिकटों पर 20 रुपये और एसी क्लास के टिकटों पर 40 रुपये का सुविधा शुल्क वसूलता था। जिसे बंद कर दिया था। अब ये शुल्क दोबारा लगेगा। गौरतलब है कि नवंबर 2016 में नोटबंदी के समय डिजिटल ट्रांजेक्शन को बढ़ावा देने के लिए मुसाफिरों को इस शुल्क से छूट दी गई थी। वित्त मंत्रालय की तरफ से रेलवे को छूट का निर्देश दिया गया था। रेलवे के पीआरओ आईए सिद्दकी ने बताया कि सर्विस चार्ज फिर से शुरू करने के लिए इस संबंध में रेलवे बोर्ड जल्दी ही फैसला लेगा।
आईआरसीटीसी को हो रहा सालाना नुकसान
अधिकारियों के अनुसार आईआरसीटीसी की ऑनलाइन टिकट बुकिंग सेवा से हर रोज़ करीब 7 लाख लोग टिकट बुक कराते हैं। आईआरसीटीसी को इससे सालाना करीब 500 करोड़ रुपयों की कमाई हो रही थी। इस कमाई के बंद होने से आईआरसीटीसी पर भी कई मुश्किलें आ गई थीं। आय का एक बड़ा जरिया बंद होने से उसके लिए संचालन लागत जुटाने, मेंटेनेंस और नए काम कर पाना संभव नहीं हो पा रहा था।
मेडीकल कार्ड नहीं बनाया तो निजी अस्पताल में नहीं मिलेगा इलाज
रेलवे कर्मचारियों के लिए 31 अगस्त तक ही बनाए जाएंगे यूनिक मेडिकल आई कार्ड
इटारसी. रेलवे कर्मचारी और उनके परिवार के सदस्यों को अब रेलवे अस्पताल में ही इलाज के भरोसे नहीं रहना पड़ेगा। रेल मंडल में कर्मचारियों के यूनिक मेडिकल आईडेंटिटी कार्ड (उम्मीद) बनाए जा रहे हैं। इस कार्ड की मदद से कर्मचारी रेलवे से अनुबंधित देश के किसी भी अस्पताल में अपना इलाज करा सकेंगे। हालांकि अभी मंडल में कार्ड बनावाने वाले कर्मचारियोंं की संख्या कम है। रेलवे द्वारा ३१ अगस्त तक ये कार्ड बनाए जाएंगे। वहीं बिना कार्ड धारी रेलवे कर्मचारियों को रेलवे की इस सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा।
कर्मचारियों को होना होगा जागरूक : वेलफेयर इंस्पेक्टर अशोक दुबे ने बताया कि रेलवे द्वारा कर्मचारियों के लिए शुरू की गई यह योजना महत्वपूर्ण है। कर्मचारियों को इसे समझना चाहिए। साथ ही निर्धारित तिथि के पूर्व अपना यूएमआईडी कार्ड बनवा चाहिए। दुबे ने बताया कि रेलवे की इस योजना का लाभ लेने के लिए कर्मचारियों को भी जागरूक होना होगा।

Updated On:
12 Aug 2019, 06:28:23 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।