बरसाती के विवाद में नगर पालिका प्रबंधन और स्वास्थ्य समिति सभापति आमने-सामने

By: Sandeep Nayak

Updated On:
25 Aug 2019, 01:51:43 PM IST

  • दैनिक वेतनभोगी सफाई कर्मचारियों के लिए सभापति ने मांगी बरसाती तो सीएमओ बोले प्रावधान ही नहीं

इटारसी। दैनिक वेतनभोगी सफाई कर्मचारियों के बरसाती की मांग को लेकर नगर पालिका प्रबंधन और स्वास्थ्य समिति सभापति एक बार फिर आमने-सामने आ गए हैं। सभापति राकेश जाधव ने दैनिक वेतनभोगी सफाई कर्मचारियों के लिए बरसाती देने के लिए पूर्व में नपा से मांग की होगी। हालांकि नपा ने इस पर ध्यान नहीं दिया। कुछ दिन पूर्व नपा के नियमित सफाई कर्मचारियों को बरसाती वितरित की गई। इसके बाद इन दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों में भी बरसाती की मांग तेज हो गई। शनिवार दोपहर सफाई कर्मचारियों के साथ समिति सभापति राकेश जाधव सीएमओ हरिओम वर्मा से बरसाती की मांग करने पहुंचे। जिसपर सीएमओ वर्मा ने कहा कि दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों के लिए बरसाती का प्रावधान नहीं है। सीएमओ ने कहा कि दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को वेतन के अतिरिक्त जो संसाधन उपलब्ध कराने के नियम हैं वे उपलब्ध कराए जा रहे हैं। बरसाती उन संसाधनों में शामिल ही नहीं है तो कैसे दे देंगे।

 

अधिकारियों की लापरवाही से बारिश में भीग रहे कर्मचारी
मामले में स्वास्थ्य समिति सभापति राकेश जाधव ने नपा सीएमओ वर्मा और स्वास्थ्य निरीक्षक आरके तिवारी पर आरोप लगाया है कि इन अधिकारियों से बारिश के पूर्व दैनिक वेतनभोगी सफाई कर्मचारियों के लिए बरसाती की मांग की थी। हालांकि अधिकारियों की लापरवाही के चलते कर्मचारियों को बरसाती नहीं मिलने से वे बारिश मेें भीग रहे हैं। जाधव ने चेतावनी दी है कि यदि जल्द कर्मचारियों को बरसाती नहीं मिली तो हमें आंदोलन के लिए बाध्य होना पड़ेगा और इसकी जिम्मेदारी नपा की होगी।

 

दो दिन में बरसाती नहीं मिली तो काम बंद करेंगे कर्मचारी
शनिवार दोपहर मप्र राज्य वाल्मीकि एवं सफाई कर्मचारी संयुक्त मोर्चा द्वारा सीएमओ को एक ज्ञापन सौंपा गया। ज्ञापन में सीएमओ से मांग की गई जो गैंग में कार्यरत सफाई जनसेवकों को अभी तक बरसाती वितरित नहीं की गई है। ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि यदि दो दिन में जनसेवकों को बरसाती नहीं वितरित की गई तो कर्मचारी काम बंद कर हड़ताल करेंगे। ज्ञापन देते समय स्वास्थ्य विभाग के सभापति राकेश जादव, पार्षद महेश आर्य, सफाई मजदूर कांग्रेस इंटक के किशोर मैना, सतीश डागर जमादार, प्रदेश महासचिव रमेश माहोरिया, बाल्मीक महापंचायत के जिलाध्यक्ष शेंकि चुटीले, सफाई कर्मचारी महासंघ राष्ट्रीय महामंत्री मंजीत कलोसिया सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।

दैनिक वेतनभोगी कर्मचारियों को बरसाती देने का प्रावधान नहीं है। जो संसाधन नियम में है वे उपलब्ध कराए जाते है। बरसाती केवल नियमित कर्मचारियों को ही दी जाती है।
हरिओम वर्मा, सीएमओ

Updated On:
25 Aug 2019, 01:51:43 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।