सीबीएसई 10 वी बोर्ड में गणित की दो परीक्षाएं लेगा

By: yashwant janoriya

Updated On:
12 Aug 2019, 05:40:25 PM IST

  • - छात्रों की सुविधा के लिए बेसिक और स्टैंडर्ड मेथमेटिक्स की होगी परीक्षा

इटारसी. केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) 2020 के लिए कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं में गणित के लिए दो परीक्षाएं आयोजित करने की योजना तैयार की है। इसे जल्दी ही क्रियान्वित करेगी। बोर्ड के अनुसार पहली परीक्षा बेसिक और दूसरी स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स टेस्ट होगी। इसके लिए परीक्षा के लिए नामांकन भरते समय रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया के दौरान पूछ जाएगा कि उम्मीदवार बेसिक मैथ्स एग्जाम देना चाहते हैं या स्टैंडर्ड मैथमेटिक्स। बोर्ड ने यह भी स्पष्ट किया है कि जो छात्र कक्षा 10 की बोर्ड परीक्षाओं में बेसिक मैथ्स एग्जाम देना चाहते हैं, वे कक्षा 11 में मैथ्स की परीक्षा नहीं दे पाएंगे। इन छात्रों को कक्षा 11 वीं में मैथ्स पढऩे के लिए 10 वीं कक्षा की कंपार्टमेंटल परीक्षाएं देनी होंगी। हालांकि, यह विकल्प केवल तभी लागू होगा, जब उम्मीदवार ने कक्षा 10 की परीक्षा में बेसिक एग्जाम पास की हो।
उम्मीदवारों को यह भी ध्यान देना होगा कि उन्हें केवल उस पेपर के लिए उपस्थित होने की अनुमति होगी जिसे उन्होंने अपने रजिस्ट्रेशन फॉर्म में चिह्नित किया है। बोर्ड के अनुसार बेसिक मैथ्स का विकल्प चुनने वाले छात्र अपनी कक्षा 12वीं के विषयों के लिए मैथ्स नहीं ले पाएंगे और अगर ये सभी छात्र बेसिक मैथ्स की परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त करते हैं और 12वीं की परीक्षा के लिए मैथ्स को आगे जारी रखना चाहते हैं, तो उन्हें अगले साल जुलाई में आयोजित होने वाली 10वीं की कंपार्टमेंटल परीक्षा में शामिल होना होगा। यह ध्यान दिया जाना चाहिए कि कंपार्टमेंटल परीक्षा में उत्तीर्ण होने के बाद ही उम्मीदवार 11वीं में मैथ्स ले पाएंगे। यह पहली बार है कि बोर्ड ने छात्रों को विषय में कंपार्टमेंटल परीक्षा देने का मौका दिया है।
बता दें कि ने बेसिक और स्टैंडर्ड मैथ्स के पेपर के लिए सिलेबस में बदलाव नहीं किया है। सिलेबस समान होगा जबकि दोनों पेपरों का लेवल ही अलग होगा। जबकि बेसिक मैथ्स का प्रश्न पत्र आसान होगा, स्टैंडर्ड मैथ्स का पेपर टफ और कंसेप्ट पर आधारित होगा।
बोर्ड ने छात्रों को यह भी सलाह दी है कि यदि वह मैथ्स में रुचि रखते हैं, तो ही मैथ्स सब्जेक्ट लें। वे छात्रों जो विषय में रुचि नहीं रखते हैं और जो विषय में कमजोर हैं, उन्हें बेसिक मैथ्स लेने की सलाह दी गई है।

सीबीएसई कक्षा 10 में मैथ्स के दो परीक्षा लेने की योजना बनाई है। इससे छात्रों को च्वाइस का अवसर मिलेगा। साथ ही अपने रिजस्ट सुधारने में फायदा होगा। अभी सर्कुलर नहीं आया, लेकिन सीबीएसई ने इस योजना से अवगत करा दिया है।
- शिवप्रताप, प्राचार्य, केंद्रीय विद्यालय एक, इटारसी

Updated On:
12 Aug 2019, 05:40:25 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।