6 माह से रुका पुल का काम, शहर से कट गए ग्रामीण

By: yashwant janoriya

Published On:
Aug, 12 2019 06:46 PM IST

  • जान जोखिम में डालकर करना पड़ता है रपट पार, पानी ज्यादा होने से होती है परेशानी

इटारसी. शहर से 18 किमी दूरी पर ढ़ाबाकला गांव में हथेड़ नदी पर बने पुल का काम बीते 6 महिने से बंद पड़ा है। अब बारिश के दौरान पानी अधिक होने पर तीखड़, जमानी, ढ़ाबाकला और धरमकुंडी सहित अन्य गांवों का शहर से संपर्क टूट जाता है। ऐसे में जरूरी काम के लिए ग्रामीण जान जोखिम में डालकर रपटा पार कर रहे हैं। जिले में भले ही बाढ़ जैसी कोई स्थिति न हो लेकिन इन गांवों में ग्रामीणों को हथेड़ नदी में पानी अधिक होने पर बाढ़ जैसे ही हालातों का सामना करना पड़ता है जहां लोगों को शहर से संपर्क कट जाता है। पानी अधिक होने की वजह से बच्चे भी स्कूल नहीं जा पा रहे हैं।
20 फिट तक हो जाता है पानी
ढ़ाबाकला निवासी जितेन्द्र कुमार इवने ने बताया कि अभी दो फिट से ज्यादा पानी है। बारिश के दौरान पानी का स्तर २० फिट तक पहुंच जाता है। पिछली बार जब पानी का स्तर बढ़ा था तो पिलर से निकली लोहे की रॉड तक पानी में डूब गईं थी। पानी का स्तर कम होने से ग्रामीण आवागमन शुरू कर देते हैं लेकिन इससे हादसे की आशंका बढ़ जाती है।
इनका कहना है
पुल का निर्माण काफी समय से बंद है। बारिश के पहले भी ग्र्रामीणों ने अधिकारियों को समस्या से अवगत कराया था। पुल का निर्माण नहीं होने से ग्रामीणों को मजबूरी में पानी के बीच से होकर निकलना पड़ता है।
रामफल इवने, सरपंच, ढ़ाबाकला

तवा लबालब, बरगी से नर्मदा में बढ़ेगा जलस्तर
बारिश का दौर शनिवार को थमा रहा। दिनभर धूप निकली। वहीं तवा डेम का जलस्तर बढ़कर 1159.30 फीट पहुंच गया। अब सैलानियों को यहां गेट खुलने का इंतजार है। डेम की जल भराव क्षमता 1166 फीट है। जल स्तर 1160 से 61 तक पहुंचने पर ही 15 अगस्त के पहले गेट खुल सकते हैं। इधर, बरगी डेम के गेट दूसरे दिन भी खुले रहे। जिससे अगले २४ घंटों के दौरान नर्मदा के जल स्तर में बढ़ोतरी की संभावना है। अभी यहां का जल स्तर 946.10 फीट है। बरगी डेम का जल स्तर 421.75 मीटर एवं बारना डेम का जल स्तर 343.39 मीटर पर चल रहा है। मौसम विभाग ने अगले 24 घंटों में वर्षा या चमक के साथ बोछारें पडऩे की संभावनाएं जताई है। इधर, जिले में खरीफ फसलों की स्थिति अच्छी है। धान रोपाई का काम भी अब पूरा हो गया है।

Published On:
Aug, 12 2019 06:46 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।