66 हजार किसानों को अब तक नहीं मिले 12752 लाख रुपए

By: Rahul Saran

Published On:
Aug, 13 2019 12:46 PM IST

  • भुगतान नहीं होने पर किसान हो रहे परेशान, प्रति क्विंटल 166 रुपए प्रोत्साहन राशि मिलना थी

होशंगाबाद। जिले में तीन माह पहले 66 हजार किसानों ने समर्थन मूल्य पर गेहूं बेचा था। फसल की राशि के साथ किसानों को प्रति क्विंटल 166 रुपए प्रोत्साहन राशि का भी भुगतान करना था। तब किसानों को उम्मीद थी कि कांग्रेस सरकार जल्द भुगतान कर देगी लेकिन वह राशि के इंतजार में तीन महीने से दफ्तर और अफसरों के चक्कर लगा रहे हैं। तीन महीने पहले कृषि विभाग ने इसके लिए डिमांड लेटर भी भेजा था मगर अब तक ना तो प्रोत्साहन राशि का बजट मिला है और ना ही कोई जवाब शासन की तरफ से मिला है। इधर, राष्ट्रीय किसान मजदूर संघ ने मामले को लेकर बड़ा आंदोलन की योजना बनाई है।
66 हजार किसानों ने बेची थी उपज
24 मार्च से 25 मई तक गेहूं की समर्थन मूल्य पर कृषि उपज मंडी और उपार्जन केंद्रों पर खरीदी हुई थी। पंजीकृत 70 हजार से ज्यादा किसानों में से करीब 66 हजार किसान उपार्जन केंद्रों और कृषि मंडियों में अपना गेहूं बेचा था। जिन्हे 3 महीने बाद भी उक्त राशि नहीं मिली।

राशि नहीं मिलने से किसानों के जरूरी काम अटके
शासन ने प्रोत्साहन राशि की दर 160 रुपए प्रति क्विंटल तय की थी। 66357 किसानों को प्रोत्साहन राशि दी जाना है। इस प्रकार करीब 12752 लाख रुपए का भुगतान होने शेष है। राशि नहीं मिलने से किसानों ने जरुरी काम रुके हैं।
&किसानों को गेहूं बेचे लंबा समय हो गया है। अब तक प्रोत्साहन राशि का भुगतान नहीं हुआ है। अफसरों से पूछने पर वह आदेश नहीं होने की बात कहकर पल्ला झाड़ रहे हैं। अब संगठन ने इस मुद्दे को लेकर बड़ा आंदोलन करने की योजना बनाई है। जल्द ही इस पर अमल किया जाएगा।
हरपालसिंह सोलंकी, जिलाध्यक्ष राष्ट्रीय किसान मजदूर महासंघ
&शासन ने प्रोत्साहन राशि के संबंध में अब तक किसी तरह के कोई आदेश नहीं दिए हैं। शासन से इस संबंध में आदेश जारी होते ही किसानों के खाते में खुद ही राशि जमा होना शुरू हो जाएगी।
जीतेंद्र ङ्क्षसह, उप संचालक कृषि

Published On:
Aug, 13 2019 12:46 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।