चढ़ते पारे के साथ डायरिया की बीमारी, स्वास्थ्य विभाग ने बच्चों को बचाने का अभियान छेड़ा, देखें वीडियो

By: suchita mishra

Published On:
May, 28 2019 05:42 PM IST

  • मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने शुरू किया दस्त नियंत्रण पखवाड़ा, चिह्नित कर दिए जाएंगे ओआरएस के पैकेट

हाथरस। भीषण गर्मी और रोज चढ़ते हुये पारे के साथ-साथ बीमारियों ने भी अपना असर दिखाना शुरू कर दिया है। डायरिया ऐसी ही एक बीमारी है जो पूरे देश में नवजात व बाल मृत्यु दर के प्रमुख कारणों में से एक है। इसलिए प्रदेश में “जीरो चाइल्डहुड डेथ ड्यू टु डायरिया’ के उद्देश्य से 28 मई से 9 जून तक सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़े अभियान का संचालन किया जा रहा है।

सीएमओ ने किया शुभारम्भ
जनपद हाथरस में मंगलवार को मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डॉ. बृजेश राठौर के नेतृत्व में अभियान की शुरुआत हुई। उन्होंने बताया कि सघन दस्त नियंत्रण पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है, इसमें ओआरएस व जिंक टेबलेट के माध्यम से डायरिया से ग्रसित बच्चों का इलाज किया जाएगा। आशाएँ अपने -अपने क्षेत्र में बच्चों को चिन्हित करने का कम करेंगी। पखवाड़ा 09 जून तक चलेगा।

ओआरएस के पैकेट दिए जाएंगे
डॉ. बृजेश राठौर ने बताया कि पखवाड़े के दौरान पांच वर्ष से छोटे बच्चों के अभिभावकों को डायरिया की रोकथाम की जानकारी दी जाएगी। आशा कार्यकर्ता माईक्रोप्लान बनाकर बच्चों को चिन्हित करेंगी और उनके घर ओआरएस के पैकेट देकर उनके प्रयोग की जानकारी देंगी। सामान्य डायरिया के इलाज के साथ गंभीर डायरिया रोगियों को आशा कार्यकर्ता पीएचसी, सीएचसी भेजेंगी।

Published On:
May, 28 2019 05:42 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।