पीओएस मशीने खराब होने से बिगड़ी राशन वितरण व्यवस्था

sanjeev dubey

Publish: Sep, 12 2018 12:07:25 PM (IST)

विकासखंड में ९१ राशन दुकानों में से ५५ दुकानों की पीओएस मशीने खराब, कंपनी के पास नहीं है नई मशीने

टिमरनी. विकासखंड में संचालित कई शासकीय उचित मूल्य की राशन दुकानों से हितग्राहियों को सस्ता राशन नहीं मिल रहा है। जिसके चलते उन्हें बाजार से महंगे दामों पर राशन खरीदना पड़ रहा है। कई राशन दुकानों पर बायोमैटिक मशीनें खराब हो जाने से हितग्राहियों को राशन देना बंद कर दिया गया है। राशन दुकान में पीओएस बायोमैटिक मशीन के माध्यम से राशन वितरण की व्यवस्था जब से लागू हुई है तब से कभी कनेक्टिविटी नहीं मिलने से तो कभी डीस्पले खराब होने या प्रिंटर खराब होने की समस्या बनी रहती है। बायोमैटिक मशीने सुधारने के लिए जिले में केवल एक ही इंजीनियर है। इससे पूरे जिले में बड़ी संख्या में मशीने खराब पड़ी है। विकासखंड में 91 राशन दुकाने है, इनमें से केवल 48 राशन दुकानो पर ही बायोमैटिक के माध्यम से आनलाइन राशन का वितरण हो रहा है। जबकि 21 दुकानों पर मशीने खराब है। जिन्हें सुधराने के लिए भोपाल भेजा गया है। वहीं 34 मशीन तकनीकी खराबी के चलते बंद पड़ी है। यही कारण है कि हितग्राहियों को समय पर राशन नहीं मिल पाता है। शासन की योजना के तहत अंत्योदय एवं प्राथमिकता श्रेणी के परिवारों को हर माह एक रुपए किलो के भाव से गेहू एवं चावल का वितरण किया जाता है।

21 राशन दुकानों पर नहीं है मशीने, एसडीएम के निर्देश पर होता है वितरण
विकासखंड में संचालित 91 शासकीय उचित मूल्य की दुकानों में से टेमागांव, भादूगाव, डोलरिया, नादवा, रवांग, बोरी सहित २१ गांवों की राशन दुकानों की मशीन खराब होने की वजह से भोपाल भेजी गई है। जो लंबा समय बीतने के बाद भी अभी तक नहीं आ सकी है। खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को इन 21 राशन दुकानों पर राशन वितरण के कोई निर्देश भी प्राप्त नहीं हुए है। पिछले महीने भी 15 तारीख के बाद भी एसडीएम के निर्देश के बाद निगरानी समिति की उपस्थिति में राशन का वितरण किया गया था। इस माह भी अभी तक इन २१ दुकानों से राशन वितरण शुरू नहीं किया गया है।

34 राशन दुकानों के हितग्राही भी परेशान-
विकासखंड की 34 राशन दुकानों पर चलते चलते ही मशीने खराब हो जाती है। इससे वितरण व्यवस्था ठप्प हो जाती है। सेल्समैन मशीनों को सुधारने के लिए खाद्य आपूर्ति विभाग कार्यालय पहुंचता है। इससे हितग्राहियों को राशन ही नहीं मिल पाता है। वर्तमान में विकासखंड के पोखरनी, नौसर, कपासी, महूखाल, कचनाल सहित 29 राशन दुकानों में बायोमैटिक मशीन तकनीकी खराबी के कारण बंद पड़ी हुई है। लेकिन इस विभागीय अधिकारियों द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है। हालांकि इस संबंध में खाद्य आपूर्ति अधिकारी का कहना है कि डीएसके कंपनी से लगातार संपर्क कर पीओएस मशीन में सुधार कार्य करने के निर्देशित किया जा रहा है। जमा की गई पीओएस मशीन सुधरवाकर बुलाई जा रही है। जैसे ही प्राप्त होगी विके्रताओं को प्रदाय की जाएंगी। वर्तमान में भोपाल से ही पीओएस मशीने प्रदाय नहीं की जा रही है

विकासखंड में खुली चार नवीन राशन दुकाने-
विकासखंड में पहले 8 7 राशन दुकानें थी, अब चार नवीन राशन दुकाने ओर खोली गई है। जिसमें सौताड़ा ,कुहीग्वाड़ी, गोदड़ी, गाढ़ामोढ कला शामिल है। मंगलवार को गोदड़ी पंचायत में नवीन शासकीय उचित मूल्य की दुकान का शुभारंभ महेन्द्रसिंह मौर्य द्वारा फीटा काटकर किया गया । यह दुकान मां दुर्गो स्व सहायता समूह द्वारा संचालित की जाएगी। इस दौरान तेजसिंह यदुवंशी, अभिजीत मिसा सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे। इससे पहले गोदड़ी पंचायत के हितग्राहियों को राशन लेने करताना आना पड़ता था।

इनका कहना है
कंपनी का कहना है कि अभी नई मशीने उपलब्ध नहीं है। राशन से किसी भी हितग्राही को वंचित नहीं रखा जाएगा। एसडीएम के निर्देश के बाद निगरानी समिति के उपस्थिति में रजिस्टर के माध्यस से राशन वितरण कराया जाएगा।
आपूर्ति पटेल, खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी टिमरनी

More Videos

Web Title "POS machines of 55 shops poor"