8500 हजार कनेक्शन का भार उठा रहे 49 कम क्षमता के ट्रांसफार्मर, इसलिए हो रही सप्लाई ट्रिपिंग

By: Sanjeev Dubey

Published On:
Jul, 12 2019 12:00 PM IST

  • बिजली व्यवस्थाओं एवं सप्लायी में सुधार के लिए नगर में लगेंगे नए ट्रांसफार्मर

खिरकिया. नगर में बिजली समस्या गहराती जा रही है। बार-बार ट्रिपिंग हो रही है, लाइन में फाल्ट आ रहे हैं। अघोषित बिजली कटौती की समस्या भी लोगों को परेशान कर रही है। इन सभी दिक्कतों के मूल में कम क्षमता के ट्रांसफार्मर पर अधिक भार बताया जा रहा है। खिरकिया एवं छीपाबड़ सब स्टेशनों के माध्यम से नगरीय क्षेत्र के 15 वार्ड एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली सप्लायी की जाती है। ट्रांसफार्मरों की कम क्षमता और ज्यादा कनेक्शन होने के कारण डीपी व लाइन में तकनीकी खराबी आती रहती हैं जिसके कारण नागरिकों को परेशानियां उठानी पड़ती हंै। लोड अधिक होने पर जंफर जलने, ट्रिपिंग की समस्याएं होती हैं।

49 ट्रांसफार्मरों पर हजारों कनेक्शनों का भार
नगर में बिजली व्यवस्था के लिए कुल 49 ट्रांसफार्मर लगाए गए हैं। इनमें से 27 खिरकिया एवं 19 ट्रांसफार्मर छीपाबड़ में लगे हुए हैं। इनकी क्षमता 100 एवं 63 केव्ही है, लेकिन इन ट्रांसफार्मर पर हजारों कनेक्शनों का भार है। नगर में 5500 घरेलू कनेक्शन हैं, जिनमें से खिरकिया एवं छीपाबड़ में ही 4 हजार है, जबकि शेष सब स्टेषन के अंतर्गत आने वाले ग्रामों में है। वहीं 750 से 800 कमर्शियल कनेक्शन हंै। कृषि की सिंचाई के लिए दिए जाने वाले 2 हजार पंप कनेक्शन हैं। इस प्रकार करीब 8500 कनेक्शन हैं। बड़ी संख्या में विद्युत कनेक्शनों के कारण बिजली सप्लायी में दिक्कत होती है। ग्रीष्मकाल में नागरिकों को बिजली समस्याओं का सामना करना पड़ा जिसमें सबसे अधिक समस्या डीपी के कारण हुई थीं। लोड अधिक होने पर कभी डीपी फेल तो कभी केबल जल जाते थे। कम क्षमता के ट्रांसफार्मर पर अधिक लोड अभी भी दिक्कत पैदा कर रहे हैं।

6 नए ट्रांसफार्मर लगेंगे, भेजा प्रस्ताव
अच्छी बात यह है कि ट्रांसफार्मर के कारण आ रही बिजली समस्या से निजात के लिए बिजली कंपनी ने पहल की है। नगर में नए ट्रांसफार्मर लगाए जाने के लिए प्रस्ताव बनाकर वरिष्ठ कार्यालय को भेजा है, जिस पर शीघ्र स्वीकृति मिलने की बात कही जा रही है। नगर में 6 नए ट्रांसफार्मर लगाए जाएंगे। इसमें वे ट्रांसफार्मर भी शामिल है, जिनकी क्षमता कम है। ऐसे ट्रांसफार्मर में क्षमता वृद्धि की जाएगी। जहां 100 केवी के ट्रांसफार्मर है, वहां 200 के एवं जहां 63 केव्ही के ट्रांसफार्मर है, वहां 100 केव्ही के ट्रांसफार्मर लगाकर क्षमता में वृद्धि की जाएगी। वहीं अधिक कनेक्शन वाले ट्रांसफार्मर के बीच नया ट्रांसफार्मर स्थापित कर कनेक्शन विभाजित किए जाऐंगे।

यहां लगेंगे नए ट्रांसफार्मर
नगर में बिजली व्यवस्थाओं में सुधार के लिए नए ट्रांसफार्मर मुख्यत: उन क्षेत्रों में लगाए जाएंगे, जहां लोड अधिक है और ट्रांसफार्मर की क्षमता कम है। बिजली कंपनी के प्रारंभिक आंकलन के अनुसार जामा मस्जिद के समीप, बैंक आफ इंडिया एवं चंदूलाल डीपी के बीच, मुख्य चौराहा छीपाबड़, दाना बाबा मंदिर एवं खेड़ीपुरा में नए ट्रांसफार्मर लगाया जाना है। इन स्थानों पर डीपी की क्षमता कम व कनेक्शन अधिक होने के कारण लोड अधिक है। इस कारण यहां पर आएदिन परेशानियां होती हैं। ग्रीष्मकाल के दौरान इन स्थानों पर डीपी फेल होने, लाइन फाल्ट व जलने की समस्या कई बार सामने आयी हैं, इसलिए यहां डीपी को स्थापित किया जाएगा। नई डीपी के लिए स्वीकृति मिलने के बाद नागरिकों को बिजली संबंधी समस्याओं से राहत मिलेगी।

इनका कहना
- लोड अधिक होने और ट्रांसफार्मर की क्षमता कम होने के कारण बिजली संबंधी दिक्कतें आ रहीं हैं। इस समस्या के समाधान के लिए नगर में 6 नए ट्रांसफार्मर लगाए जाने का प्रस्ताव भेजा गया है। कुछ में क्षमता वृद्धि भी की जाना है। ग्रीष्मकाल में जहां बिजली समस्या व शिकायतें अधिक रहीं, वहां डीपी लगायी जाएगी।
सौरभ शर्मा, एई, खिरकिया

Published On:
Jul, 12 2019 12:00 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।