खल की आड़ में पोस्त की तस्करी, दो जने गिरफ्तार

By: Rajender pal nikka

Published On:
Sep, 12 2018 06:44 PM IST

कैंटर में भरा साढ़े चार क्विंटल से अधिक पोस्त जब्त,

हनुमानगढ़. जंक्शन पुलिस ने पशु आहार की आड़ में कैंटर में ले जाया जा रहा साढ़े चार क्विंटल से अधिक पोस्त जब्त किया। चालक व खलासी को मौके से गिरफ्तार किया गया। कार्रवाई बुधवार तड़के अंजाम दी गई। चालक-खलासी से पूछताछ में सामने आया कि कैंटर को एक गाड़ी एस्कोर्ट कर रही थी जो आगे निकल गई। पुलिस उस गाड़ी व उसमें सवारों की तलाश में जुटी है। जंक्शन पुलिस ने पकड़े गए कैंटर के चालक व खलासी के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। जंक्शन पुलिस की दो दिन में एनडीपीएस एक्ट की यह दूसरी कार्रवाई है।

जानकारी के अनुसार जिला पुलिस अधीक्षक अनिल कयाल के निर्देशानुसार शुरू किए गए विशेष अभियान के तहत पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली कि एक कैंटर में भारी मात्रा में पोस्त भरकर ले जाया जा रहा है। इस पर पुलिस उप अधीक्षक वीरेंद्र जाखड़ व जंक्शन थाना प्रभारी पुष्पेन्द्र झाझडिय़ा के नेतृत्व में गठित दल ने देर रात सतीपुरा में चौराहे पर नाकाबंदी शुरू की। वाहनों की जांच के दौरान पुलिस ने टाउन की तरफ से आ रहे कैंटर नंबर आरजे ०६ जीसी ०९६९ को रूकवाया। ट्रक चालक व खलासी ने पूछने पर बताया कि वे खल भरकर ले जा रहे हैं।

पुलिस जवानों ने शक के आधार पर कैंटर में भरी खल की बोरियों को एक तरफ कर देखा तो उनके नीचे पोस्त से भरी बीस बोरियां छिपाकर रखी हुई थी। इन बोरियों में कुल चार क्विंटल साठ किलोग्राम डोडा पोस्त भरा था। कैंटर में खल की कुल ४५ बोरियां भरी थी। पुलिस ने प्रतिबंधित पोस्त की तस्करी करने के आरोप में मौके से कैंटर चालक महादेव गुजर (२३) पुत्र भैरू गुजर निवासी कोदु कोटा भीलवाड़ा व खलासी शिव सुथार (२०) पुत्र बद्री सुथार सवाईपुर भीलवाड़ा को गिरफ्तार कर कैंटर को कब्जे में ले जंक्शन थाने पहुंचाया।

पुलिस ने थाने में चालक-खलासी से पूछताछ की तो उन्होंने बताया कि वे भीलवाड़ा से पोस्त लाए थे तथा सादुलशहर जा रहे थे। कैंटर को आगे-आगे एक गाड़ी एस्कोर्ट कर रही थी। पुलिस एस्कोर्ट कर रही गाड़ी में सवार लोगों के नाम-पतों के बारे में जानकारी जुटा उनकी तस्दीक के प्रयासों में जुटी है। जंक्शन पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया। जांच संगरिया थाना प्रभारी अरुण चौधरी कर रहे हैं। पुलिस आरोपितों को न्यायालय में पेश कर रिमांड मंजूर करवाएगी।

Published On:
Sep, 12 2018 06:44 PM IST