यह कैसा अमृत, बिना जमीन के दिया सीवर प्लांट बनाने का ठेका

By: Gaurav Sen

Published On:
Sep, 29 2017 01:04 PM IST

  • जैसा प्रोजेक्ट उदय का हाल हुआ ठीक कुछ वैसा ही अमृत सिटी योजना का हाल होने वाला है। मामला शहर में सीवर समस्या के समाधान करने का है। इसके लिए करीब ४०० क

ग्वालियर. जैसा प्रोजेक्ट उदय का हाल हुआ ठीक कुछ वैसा ही अमृत सिटी योजना का हाल होने वाला है। मामला शहर में सीवर समस्या के समाधान करने का है। इसके लिए करीब ४०० करोड़ रुपए के ठेके कर दिए गए। लेकिन हैरान करने वाली बात यह है कि उक्त योजना में चार सीवर प्लांट बनाए जाने हैं। अभी तक न तो अफसरों ने जमीन तय की और न ही आवंटन किया गया।


पिछले दो तीन दिनों में पहले निगमायुक्त विनोद शर्मा ने प्लांट के लिए अलापुर डेम के पास सीवर प्लांट के लिए जमीन तय कि फिर दूसरे दिन कलेक्टर राहुल जैन ने विक्की फैक्ट्री के पास जमीन का चयन किया। निरीक्षण के दौरान एेसा लग रहा था कि अफसर अपनी गलतियों को छुपाने के लिए कुछ भी करने को तैयार हैं। क्योंकि किसी भी निर्माण कार्य का ठेका तब ही दिया जाता है जब स्पॉट तय हो, उसका टोटल स्टेशन सर्वे हो। लंबाई चौड़ाई पता हो। लेकिन इस मामले मेें पहले पैसा तय कर ठेका कर दिया गया अब प्लांट कहां बनाया जाना है उसके लिए माथापच्ची की जा रही है। जिससे प्रोजेक्ट की सफलता पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं। बहरहाल केंंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर की बैठक से पूर्व अफसरों ने जमीन तय करने की पूरी कोशिश गुरूवार को की। इस दौरान कलेक्टर राहुल जैन, निगमायुक्त विनोद शर्मा एसडीएम, महिप तेजस्वी व राघवेन्द्र पाण्डेय, अधीक्षक यंत्री आरएलएस मौर्य आदि मौजूद रहे।

प्लांट-1
4 एमएलडी के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के लिए विक्की फैक्ट्री के पास एनआरआई कॉलेज के पीछे स्थित ग्राम ललियापुरा की जमीन को देखा। यहां प्लांट के लगने से ट्रीटेड वाटर नाले के माध्यम से अलापुर डैम में पहुँचाने की बात अफसरों ने की। जिससे उक्त पानी का उपयोग खेती और किसानी के लिये करने की बात कही गई।


प्लांट-2
८ एमएलडी प्लांट के लिए दीनदयालनगर आदित्यपुरमए गोले का मंदिर, शताब्दीपुरम क्षेत्र के निवासियों के लिये ग्राम लोहारपुरा की ढ़ाई हैक्टेयर भूमि का अवलोकन किया।


प्लांट-4
१६५ एमएलडी प्लांट के लिए शर्मा फ ार्म स्थित जलालपुर में तलवार वाले हनुमान मंदिर के पास बनाए जाने सीवर ट्रीटमेंट प्लांट के प्रस्तावित स्थल का भी निरीक्षण किया।


प्लांट-4
मोतीझील वाटर सप्लाई प्लांट के पास अमृत योजना के तहत प्रस्तावित नए वाटर ट्रीटमेंट प्लांट बनाये जाने की संभावनाओं को भी देखा। यहां निजी भूमि को भी क्रय करने या अधिग्रहण के माध्यम से उपलब्ध कराने की बात अपसरों ने कही।

अतिक्रमण के विरुद्ध अभियान के निर्देश
कलेक्टर ने नाका चंद्रबदनी से लेकर विक्की फैक्ट्री तक किए जा रहे अवैध अतिक्रमण को त्यौहार के बाद सख्ती हटाने के निर्देश दिए। वहीं कैंसर पहाडिय़ा क्षेत्र में भी अवैध निर्माण सख्ती से रोकने के निर्देश दिए। उन्होंने एेसे लोगों के खिलाफ भी कार्रवाई के निर्देश दिए, जिन्हें निगम के गरीबी योजना के तहत आवास मिल गए हैं और वह उन्हें किराए पर देकर झोपडि़यों में रह रहे हैं। वहीं डीडी नगर के पास अवैध कॉलोनी मालिकों के विरुद्ध कार्रवाई के निर्देश भी दिए । वहीं अलापुर के पास अवैध कॉलोनियों के निर्माण को सख्ती से रोकने के निर्देश एसडीएम महिप तेजस्वी को दिए।


आज आएंगे तोमर
केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शुक्रवार को सुबह ११:४५ पर महाराज पुरा पर एयरबेस पर आएंगे। २ बजे दिशा कमेटी एवं विद्युत निगरानी समिति की बैठक कलेक्ट्रेट में लेंगे। इस दौरान शहर विकास पर भी चर्चा होगी।

 

समझ नहीं आ रहा
यह सही है कि प्लांट का ठेका देने से पूर्व जमीन का तय होना बहुत जरूरी है। फिलहाल हमें भी अमृत और स्मार्ट सिटी की योजना समझ नहीं आ रही है। इस मामले में अफसरों से बात करेंगे।
धर्मेंद्र राणा, जनकार्य प्रभारी नगर निगम


शहर के साथ धोखा
प्रोजेक्ट उदय की तरह ही अमृत और स्मार्ट सिटी का हाल होने वाला है। भाजपा के लोग चुपचाप सब देख रहे हैं। अफसर गोलमाल करके चले जाएंगे। यह शहर के साथ धोखा है।
कृष्णराव दीक्षित, नेता प्रतिपक्ष नगर निगम

Published On:
Sep, 29 2017 01:04 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।