यहां भक्तों की मर्जी पर चलते हैं महादेव, जिस ओर भक्त चाहें वहीं मुड़ जाता है शिवलिंग, वीडियो में देखें चमत्कार

By: monu sahu

Updated On:
12 Aug 2019, 02:38:04 PM IST

  • आपको सावन में हम ऐसे अनूठे शिव मंदिर से रूबरू कराने जा रहे है, जहां महादेव अपने भक्तों की मर्जी से चलते हैं

ग्वालियर। आज सावन का चौथा सोमवार है और अंचल के सभी मंदिरों में शिवभक्तों की भीड़ लगी हुई है। इस मौके पर हम आपको प्रदेश के ग्वालियर चंबल संभाग के श्योपुर के ऐसे अनूठे शिवमंदिर से रूबरू कराने जा रहे है, जहां महादेव अपने भक्तों की मर्जी से चलते हैं। जहां शिवजी के भक्त चाहते हैं शिवलिंग की जलहरी वहीं घूम जाती है।

इसे भी पढ़ें : विजय पाने की थी ऊमरेश्वर की स्थापना फिर जमीन में निकला खजाना

भक्तों की मर्जी से घूम जाता है शिवलिंग
शिवलिंग की जलहरी सामान्यत उत्तर की ओर रखी जाती है। कुछ विशेष मंदिरों में जलहरी दक्षिण दिशा की ओर हो जाती है। लेकिल श्योपुर में एक ऐसा अनूठा शिवमंदिर है। जहां शिवलिंग को भक्त अपनी सहूलियत से घुमाकर किसी भी दिशा में उनका मुख ले जा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें : 125 साल बाद हरियाली अमावस्या पर बना ऐसा संयोग, इन राशियों की चमकेगी किस्मत

300 साल पुराना है ये शिवलिंग

  • श्योपुर के छार बाग मोहल्ला में स्थित ये मंदिर 300 साल पुराना है। इस शिवलिंग को गौड़ राजा सोलापुर से श्योपुर लाए थे और उन्होंने यहां शिवलिंग की विधि विधान से पूजा की और स्थापना कराई।
  • यहां श्रद्धालु अपनी इच्छा के मुताबिक शिवलिंग की जलहरी को दिशा देकर भोलेनाथ को रिझाते हैं।
  • 300 साल पहले गौड़ राजा सोलापुर से लाए थे शिवलिंग।
  • घूमने वाले इस शिवलिंग की प्राण-प्रतिष्ठा श्योपुर के गौड़ वंशीय राजा पुरुषोत्तम दास ने सन् 1722 में करवाई थी
  • इसका उल्लेख इस मंदिर में लगे शिलापट्ट पर भी अंकित है।
  • इस शिवालय को अब गोविंदेश्वर महादेव के नाम से जाना जाता है।
  • इससे पूवज़् यह शिवलिंग सोलापुर महाराष्ट्र में बाम्बेश्वर महादेव के रूप में स्थापित था।
  • गौड़ राजा शिवभक्त थे। उन्होंने शिवनगरी के रूप में शिवपुर (अब श्योपुर) नगर बसाया।

इसे भी पढ़ें : पीएम मोदी दे रहे हैं एक लाख का लोन फिर 60 महिलाओं से की ठगी, सच्चाई सामने आते ही उड़े होश

लाल पत्थर से बना है शिवलिंग
शिवलिंग लाल पत्थर का बना हुआ है। यह दो भाग में विभाजित है। एक पिंडी और दूसरा जलहरी।
यह शिवलिंग नीचे एक आकार में बनी पत्थर की धुरी पर टिका हुआ है। अपनी धुरी पर यह शिवलिंग चारों तरफ घूम जाता है।
मंदिर में आने वाले भक्त शिवलिंग को अपनी सुविधानुसार घुमाकर पूजा कर लेते हैं।

इसे भी पढ़ें : नौकरानी को देख गाड़ी रोकी तो मालकिन रह गईं सन्न, देखी ऐसी चीज कि भागे-भागे पहुंची घर

Updated On:
12 Aug 2019, 02:38:04 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।