असम के 25 जिले बाढ़ की चपेट में, 15 लाख लोग प्रभावित

By: Yogendra Yogi

Updated On:
14 Jul 2019, 02:58:16 PM IST

  • असम के 25 जिलों की 15 लाख से ज्यादा आबादी बाढ़ग्रस्त। सात लोगों की मौत। मुख्यमंत्री ने केंद्रीय गृहमंत्री को दी जानकारी। काजीरंगा नेशनल पार्क पानी से लबालब।

गुवाहाटी, राजीव कुमार:असम के 25 जिलों में 15 लाख से ज्यादा लोगों पर बाढ़ ( flood ) का असर पड़ा है। रेस्क्यू ( Rescue ) टीमों ने करीब 20 हजार लोगों को 68 राहत शिविरों में पहुंचाया। बारपेटा जिला सबसे ज्यादा प्रभावित है। यहां पांच लाख से ज्यादा लोगों को विस्थापित ( Devasting) किया गया। मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल ने शनिवार को केंद्रीय (Central ) गृह मंत्री अमित शाह को फोन कर बाढ़ के हालात की जानकारी दी। शाह ने असम और अन्य राज्यों में बाढ़ की समीक्षा के लिए उच्चस्तरीय बैठक की।

भारी बारिश और बाढ़ से असम में लोगों को भारी मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। यहां अलग-अलग जगहों पर अब तक करीब 7 लोगों की मौत ( Deaths ) हो चुकी है। वहीं एक सींग वाले गेंडों ( One Horn Rhino ) के लिए प्रसिद्ध काजीरंगा नेशनल पार्क ( Park ) भी पानी से लबालब है, जिससे जंगली जानवरों को भी खतरा उत्पन्न हो गया है।

असम में गुवाहाटी के कालीपुर इलाके में बना भगवान विष्णु का मंदिर ( Temple ) पानी में डूब गया है। दूसरी ओर, असम में ब्रह्मपुत्र समेत 10 नदियों का जलस्तर खतरे ( Danger ) के निशान से ऊपर है। राज्य के 33 में से 25 जिलों में 15 लाख से ज्यादा लोग प्रभावित हुए हैं। काजीरंगा नेशनल पार्क का 70% से ज्यादा हिस्सा डूब चुका है।

पूर्वोत्तर सीमा रेलवे के अनुसार जतिंगा लंपुर और न्यू हरंगजाव रेल स्टेशनों के बीच रेलवे पटरी को नुकसान पहुंचा है। इसके बाद रेल यातायात रोकना पड़ा है। मरम्मत का कार्य चल रहा है। रेलवे के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी प्रणब ज्योति शर्मा ने बताया कि मौसम और अधिक नहीं बिगड़ा तो 16 जुलाई तक रेल यातायात फिर बहाल होगा।

 

 

 

 

Updated On:
14 Jul 2019, 02:58:16 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।