मोदी के सामने हुए धमाके तो कमांडो ने संभाला मोर्चा !

By: Devkumar Singodiya

Updated On:
19 Aug 2019, 08:58:38 PM IST

 
  • Video Blast Near PM Modi: स्नाइपर ( Sniper ) राइफल से हुए हमले ( Attack ) के दौरान CISF Commandos ने अदम्य साहस और शौर्य का प्रदर्शन करते हुए आतंकियों ( Terrorist ) को दबोचा तो ...

गुरुग्राम. मंच पर खड़े नेता जी विपक्ष को घेरे में लेते हुए जोशीला भाषणा दे रहे हैं। सामने दर्शकों की भारी भीड़ समर्थन में जयघोष कर रही है। इसी दौरान पास की एक बिल्डिंग पर बैठा आतंकी स्नाइपर से फायर ( Fire ) झोंक देता है। भीड़ में खलबली मच जाती है, लेकिन मंच के चारों तरफ खड़े पीएसओ (पर्सनल सिक्योरिटी ऑफिसर) नेता जी को मानव कवच बनाकर कार में बिठाकर रवाना हो जाते हैं। जैसे ही कार कुछ दूरी तय करती है, सामने बम ( Bomb ) के धमाके शुरू हो जाते है। इस पर चालक कार को 180 डिग्री के एंगल पर घुमाकर वापस दौड़ा लेता है। वीआईपी की सुरक्षा का यह नजारा देखकर प्रधानमंत्री ( Prime Minister ) नरेन्द्र मोदी ( Narender Modi ) भी ताली बजाने से खुद को रोक नहीं पाए। यह नजारा रहा सीआईएसएफ ( CISF ) के मॉक ड्रिल में।

कमांडो ने दिखाया अदम्य साहस और शौर्य


सीआईएसएफ (सेन्ट्रल इण्डस्ट्रीयल सिक्योरिटी फोर्स) के कमांडो की इस मॉक ड्रिल ( Monk Drill ) ने सबका मन मोह लिया। अदम्य साहस और वीरता के बल पर कमांडो ने पीछा कर रहे आतकियों की कार के शीशे तोड़कर उन्हें जिस तरह काबू में किया, उसे देखकर लोगों ने जमकर तालियां बजाई। पलक झपकते ही आतंकियों को काबू में करने के बाद उन्हें खुद की गाड़ी में डालकर जिस तेजी से कमांडो रवाना होते हैं, वह बिजली की गति को भी मात देने वाला है।

यह होती है जेड प्लस सुरक्षा ( Z+ Security )


आमतौर पर प्रधानमंत्री, पूर्व प्रधानमंत्री सहित अतिविशिष्ट लोगों की सुरक्षा का जिम्मा एसपीजी ( SPG ), एनएसजी ( NSG ), आइटीबीपी ( ITBP ) और सीआरपीएफ ( CRPF ) के कमांडो के जिम्मे होती है। मोटे तौर पर सुरक्षा को जेड प्लस, जेड, वाई और एक्स श्रेणी में विभाजित किया गया है।

जेड प्लस में 55 जवान और 10 से अधिक एनएसजी कमांडो होते हैं।
जेड सुरक्षा में 22 जवान और 4-5 एनएसजी कमांडो होते हैं।
वाय सुरक्षा में 11 जवान और 1-2 एनएसजी कमांडो होते हैं।
एक्स श्रेणी में 2-5 जवान और सशस्त्र पुलिस (पीएसओ) ( PSO ) होते हैं।

Updated On:
19 Aug 2019, 08:58:38 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।