अनपढ़ साइबर ठग बने 'राजा बाबू', VVIP को यूं फंसाते हैं जाल में, अब नहीं हो रही शादियां

By: Prateek Saini

Updated On:
08 Aug 2019, 05:51:47 PM IST

  • Cyber Crime India: आज प्रधानमंत्री मन की बात ( Mann Ki Baat Narendra Modi ) करने वाले है ऐसे में बता दें यह शातिर ठग पीएमओ ( PMO ) से जुडे अधिकारियों को भी ठग चुके हैं, लेकिन अब ( Jharkhand Cyber Thugs ) इनकी शादियां नहीं हो पा रहीं हैं...

     

     

(रांची/गिरिडीह,रवि सिन्हा): पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ( Captain Amarinder Singh ) की पत्नी से लाखों की ऑनलाइन ठगी करने के बाद झारखंड का जामताड़ा ( JAMTARA ) जिला एक बार फिर देशभर में सुर्खियों में आ गया है। झारखंड के ठगों द्धारा ऑनलाइन ठगी करने का यह पहला मामला नहीं है, पहले भी जमाताड़ा, देवघर, धनबाद और गिरिडीह जिले के शातिर ठग पीएमओ ( PMO ) , केंद्रीय मंत्रियों, राजनीतिक दिग्गजों, कारोबारियों, फिल्म अभिनेता अमिताभ बच्चन ( Amitabh Bachchan ) से लेकर छोटे-बड़े अधिकारियों तथा आम लोगों को बड़ी चपत लगा चुके हैं। देशभर के तीन-चार राज्यों को छोड़ कर हर राज्यों की पुलिस यहां आ चुकी है और 250 से 300 साइबर अपराधियों को गिरफ्तार कर अपने साथ ले गई है।


बदला रहन—सहन

Cyber Crime India

साइबर अपराध की मदद से इन गांवों के कई युवाओं का देखते ही देखते पूरी तरह से रहन-सहन बदल गया है। कल तक जिनके पास बाइक नहीं थी आज वो कार से चल रहे हैं। कपड़े ब्रांडेड हो गए हैं और आखों पर रंगीन चश्मे लग गए हैं। जिन गांवों से पुलिस ने साइबर अपराध से जुड़े मामलों में दर्जनों युवाओं को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की है, उन गांवों में अब शरीफ लोगों का रहना भी मुश्किल हो गया है। इन गांवों की इतनी बदनामी हो चुकी है कि यहां शादी-विवाह के लिए रिश्ता करने में भी लोग कतराते है। रिश्ता बनाने वाले परिवारों को हमेशा यह डर बना रहता है कि कहीं रिश्ता कायम करने के बाद साइबर अपराध से जुड़ा कोई खुलासा न हो जाए। यही कारण है कि ऐसे कई गांव में अब ग्राम पंचायत लगाकर लोगों को चेतावनी दी जाने लगी है कि यदि किसी परिवार का कोई सदस्य साइबर अपराध मामले में गिरफ्तार होता है, तो पूरे परिवार का सामाजिक बहिष्कार किया जाएगा।


यह गांव सबसे ज्यादा प्रभावित

Cyber Crime India

जामताड़ा के करमाटांड़ , नारायणपुर के अलावा देवघर जिले का करौं, आसनबनी, चितरा घोरमारा , धनबाद जिले का निरसा, गोविंदपुर व टुंडी, गिरिडीह जिले का बेंगाबाद, गांडेय , कालाझरिया, झिलुवा, कांसीटांड़, सियांटांड़, शीतलपुर, मोहनपुर और सिकरपुसनी गांव के कई युवक-युवतियों की संलिप्तता साइबर अपराध मामले में सामने आई है।


यूं देते हैं वारदात को अंजाम

Cyber Crime India

पुलिसिया छानबीन में यह बात सामने आई है कि साइबर अपराधी ज्यादातर मामलों में एटीएम कार्ड ब्लॉक होने का डर दिखाते हैं और इधर-उधर की बात करने के बाद यह कार्ड का नंबर और सीवीवी नंबर पूछते हैं। यदि लोग इनके झांसे में आ गए तो यह 3 से 5 मिनट में ही उनके बैंक खाते को साफ कर दिया जाता है।

ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं ठग

Cyber Crime India

साइबर अपराध की घटनाओं में जुड़े युवक-युवती ज्यादा पढ़े-लिखे नहीं होते, लेकिन ऑनलाइन ठगी में यह काफी दक्ष होते है और कुछ लड़के-लड़कियां फर्राटेदार अंग्रेजी बोल कर भी लोगों को प्रभावित करने में सफल होते है। इन सभी के पास एक लैपटाॅप, दर्जनों सिम और एटीएम-क्रेडिट कार्ड इस्तेमाल करने वालों की पूरी सूची होती है। बैंककर्मियों, मोबाइल कंपनी के प्रतिनिधियों, डाक कर्मियों और कुरियर कंपनियों से मिलीभगत कर साइबर अपराधी बैंक और पेटीएम खाताधारकों के बारे में पूरा ब्यौरा जुटाते है। खाताधारकों, क्रेडिट कार्ड धारकों या पेटीएम कार्ड के बारे में जानकारी हासिल करने के बाद युवक-युवती छोटे से गांव में बैठकर देशभर के लोगों को अपने शिकार में फंसाते है।


पंजाब सीएम ( Punjab CM ) की पत्नी को ठगा

Cyber Crime India

बता दें कि पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह की पत्नी परनीत कौर से ऑनलाइन ठगी का मामला सबसे ताजा है। ठगों ने संसद सत्र के दौरान परनीत कौर को फोन कर जरूरी जानकारी मांगी और 23 लाख रुपए की ठगी कर ली। आरोपी ने अपने आपको एसबीआइ का मैनेजर बताते हुए सैलेरी डालने की बात बोलकर जानकारी मांगी और बाद में ओटीपी भी ले लिया। जांच करने पर पता चला की आरोपी अताउल अंसारी जामताड़ा (झारखंड) निवासी है। पंजाब पुलिस बुधवार को ही जामताड़ा के लिए रवाना हो गई थी।


झारखंड की ताजा ख़बरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...


यह भी पढ़ें: Watch Video: सावन में 'बाबा बैद्यनाथ धाम' का अद्भुत नजारा, पहले कभी नहीं देखा होगा

 

Updated On:
08 Aug 2019, 05:51:47 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।