अवैध शराब के खिलाफ  युवाओं व महिलाओं ने खोला अनोखा मुहिम

  • ग्राम धवलपुर में युवाओं व महिलाओं ने अवैध शराब बिक्री के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अपने गांव को नशामुक्त गांव बनाने विशेष मुहिम चलाते जागरूकता रैली निकाली
गरियाबंद/मैनपुर. ग्राम धवलपुर में युवाओं व महिलाओं ने अवैध शराब बिक्री के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए अपने गांव को नशामुक्त गांव बनाने विशेष मुहिम चलाते जागरूकता रैली निकाली। ग्राम में तेजी से बढ़ रहे नशीली चीजों के अवैध कारोबार से परेशान महिलाओं व युवाओं ने ग्रामीणों की मदद से ग्राम स्तर पर सभा का भी आयोजन किया। जिसमें ग्राम पंचायत सरपंच एवं 20 पंचों की उपस्थिति में समिति का गठन किया गया। समिति गठन के पश्चात ग्राम के पंच सरपंच व युवा बुजुर्ग महिलाओं ने दुर्गा चौक से होते हुए लाउडस्पीकर के माध्यम से नारे लगाते पूरे गांव का भ्रमण करते हुए नशा से बचने के लिए जागरूक किया।

घर-घर जाकर लोगों को किया जागरुक
इस अभियान के सूत्रधार गांव के बजरंग दल एवं अखिल भारतीय परिषद समिति के युवाओं द्वारा मुहिम चलाते हुए घर-घर जाकर लोगों को जागरूक कर नशा मुक्त गांव बनाने के लिए शपथ दिलाया। जिसमें गांव के सरपंच केदार सिंह दाउ, पंचों, महिलाओं एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, मितानिने एवं स्वसहायता समूह की महिलाएं भारी संख्या में सम्मिलित हुए। इस दौरान आयोजित सभा में ग्राम के सरपंच केदार सिंह दाउ ने कहा कि आज की पीढ़ी खासतौर पर युवाओं में बीड़ी, सिगरेट, तंबाखु, गुटखा, शराब का चलन पहले से ज्यादा देखने को मिल रहा है।

समाज हो रहा प्रभावित
उन्होंने कहा कि बच्चे, युवा व बुजुर्ग  आज नशे के आदी होते जा रहे हैं। इन सभी चीजों से हमारा समाज प्रभावित होकर गलत दिशा मेें चल रहा है। अपने आपको नशे की लत से दूर करने का पुरजोर प्रयास करें। नशे की लत के कारण मानव समाज धीरे धीरे पतन की दिशा में अग्रसर हो रहा है और इससे सभी वर्ग परेशान हैं। माताओं युवाओं व बच्चों से उन्होंने अपील कि है कि नशे के खिलाफ  लड़ते हुए समाज में सहयोग प्रदान करें। वहीं लोगों को नशे के खिलाफ  जागरूक होने की शपथ दिलाई।

ये रहे उपस्थित
इस दौरान सरपंच केदार सिंह दाउ, पंच माधव यादव, हेमलाल यादव, उमाशंकर नेताम, माधव धु्रव, गणेश बघेल, बजरंग दल, अखिल भारतीय परिसद के अध्यक्ष खिलावन निषाद, उपाध्यक्ष बिरेन्द्र यादव, कमलेश बघेल, गोपाल चक्रधारी, श्यामा साहू, मंगलु जगत, हेमन्त राणा, गजेन्द्र चक्रधारी, महेन्द्र निषाद, हेमन्त, कोमल, निषाद, नरोत्तम, धनेश नायक, धनेश यादव, सानु राजपूत, पप्पू सिन्हा सहित गांव के मितानिने, स्वसहायता समूह की महिलाएं व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं समेत युवक-युवतियां बुजुर्ग व स्कूली बच्चे उपस्थित थे।
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।