अब इस सेवा को बंद कर रहे हैं बैंक, आप नहीं कर पाएंगे पैसों का लेनदेन

By:

Updated On: 03 Dec 2018, 12:13:12 PM IST

  • यदि आपके पास भी बैंक खाता है और आप उस खाते के माध्यम से बड़ी संख्या में लेनदेन करते हैं तो यह खबर आपके लिए है।

नई दिल्ली। यदि आपके पास भी बैंक खाता है और आप उस खाते के माध्यम से बड़ी संख्या में लेनदेन करते हैं तो यह खबर आपके लिए है। देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) समेत देश के सभी सरकारी और निजी बैंक एक खास सेवा को बंद करने जा रहे हैं। इस सेवा के बंद होने के बाद आप पैसों का लेनदेन नहीं कर पाएंगे। इसके लिए सभी बैंकों ने अलग-अलग डेडलाइन तय की है। आइए आपको बताते हैं कि बैंक किस सेवा को बंद करने जा रहे हैं।

बंद हो जाएंगे नॉन सीटीएस चेक

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) के निर्देश के बाद सभी सरकारी और निजी सभी बैंकों ने एक जनवरी 2019 से नॉन सीटीएस चेक को नहीं लेने का फैसला किया है। यानी 1 जनवरी 2019 से नॉन सीटीएस चेक पूरी तरह से बेकार हो जाएंगे। यानी आप इस तारीख के बाद चेक के माध्यम से किसी भी प्रकार से पैसों का लेनदेन नहीं कर पाएंगे। असुविधा से बचाने के लिए सभी बैंक अपने ग्राहकों को मैसेज भेजकर अपनी पुरानी चेकबुक को सरेंडर कर नई चेकबुक लेने के लिए कह रहे हैं। इसके लिए सभी बैंकों ने अलग-अलग डेडलाइन तय की है।

एसबीआई 12 दिसंबर से नहीं लेगा नॉन सीटीएस चेक

आरबीआई के निर्देशानुसार, नॉन सीटीएस चेक को अस्वीकार करने की तिथि 1 जनवरी 2019 है। लेकिन बैंकों ने नॉन सीटीएस चेक अस्वीकार करने के लिए अलग-अलग डेडलाइन तय की है। देश के सबसे बड़े बैंक एसबीआई ने अपने ग्राहकों के मैसेज भेजकर कहा है कि वह 12 दिसंबर 2018 के बाद नॉन सीटीएस चेक स्वीकार नहीं करेगा। साथ ही बैंक ने अपने ग्राहकों से नई सीटीएस चेकबुक मंगाने को कहा है। इसी तरह से पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) भी अपने ग्राहकों को नई सीटीएस चेकबुक लेने के लिए कह रहा है।

क्या है CTS सुविधा

CTS व्यवस्था के तहत चेक को भुनाने में ज्यादा वक्त नहीं लगता है। इस व्यवस्था के तहत चेक को क्लीयरेंस के लिए दूसरे बैंक ले जाने की जरूरत नहीं पड़ती है। इसकी इलेक्ट्रॉनिक कॉपी से ही चेक क्लीयर हो जाता है। इससे ग्राहकों को भी सुविधा होती है।

Updated On:
03 Dec 2018, 12:13:11 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।