मोदी की इस योजना ने इस शख्स को बनाया 40 लाख रुपए का मालिक, अब है सलाखों के पीछे

By: Dimple Alawadhi

Published On:
Jan, 11 2019 11:52 AM IST

  • दिल्ली पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जो प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत लोगों को लंबे समय से ठगता आ रहा है। इसने अपने ठगी का 2 हजार से अधिक लोगों को शिकार बनाया और इनसे लाखों रुपए की ठगी की।

नई दिल्ली। 25 जून 2015 को प्रधानमंत्री आवास योजना की शुरुआत हुई थी। इस योजना का उद्देश्य 2022 तक सभी को घर उपलब्ध कराना था। इस योजना से किसी को घर मिला हो या ना, लेकिन इस स्कीम से एक इंसार 40 लाख का मालिक जरूर बन गया है। दरअसल दिल्ली पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है, जो इस योजना के तहत लोगों को लंबे समय से ठगता आ रहा है। इसने अपने ठगी का 2 हजार से अधिक लोगों को शिकार बनाया और इनसे लाखों रुपए की ठगी की।


ऐसे ठगे 40 लाख रुपए

ठगी करने वाले शख्स का नाम राजेन्द्र त्रिपाठी है, जिसे पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। त्रिपाठी ने दिल्ली के नेहरू प्लेस में नेशनल हाउसिंग डेवलपमेंट ऑर्गनाइजेशन के नाम से एक ट्रस्ट का दफ्तर खोल रखा था। त्रिपाठी ने एक वेबसाइट भी बना रखी थी जिसपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तस्वीर लगी थी। योजना के तहत सस्ता घर दिलाने के नाम पर त्रिपाठी ने हर व्यक्ति से करीब 1500-2000 रुपए लूटे हैं। यानी उसने करीब 40 लाख रुपए की ठगी को अंजाम दिया है।


कौन है राजेन्द्र त्रिपाठी ?

राजेन्द्र त्रिपाठी उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का रहने वाला है। उसने ग्रेजुएशन करने के बाद एक एनजीओ का गठन किया और इसी के माध्यम से लोगों को अलग-अलग तरीके से ठगी का शिकार बनाता था। अब दिल्ली पुलिस आरोपी राजेन्द्र त्रिपाठी से सभी मामले में पूछताछ करेगी, जिसमें कुछ और ठगी का खुलासा हो सकता है। देखना ये होगा कि लाखों रुपए की ठगी करने वाले त्रिपाठी ने और कितने लोगों को शिकार बनाया है।

Read the Latest Business News on Patrika.com. पढ़ें सबसे पहले Business News in Hindi की ताज़ा खबरें हिंदी में पत्रिका पर।

Published On:
Jan, 11 2019 11:52 AM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।