इस दिन कुंभ में होगा पहला शाही स्नान और सभी तीर्थ यात्राओं की होगी शुरुआत

By: Tanvi Sharma

Updated On: Jan, 10 2019 03:42 PM IST

  • इस दिन कुंभ में होगा पहला शाही स्नान और सभी तीर्थ यात्राओं की होगी शुरुआत

मकर संक्रांति का दिन हिंदू धर्म के लिए बहुत ही शुभ माना जाता है। इस दिन से सभी मांगलिक कार्यों की शुरुआत हो जाती है साथ ही तीर्थ स्थान में दर्शन भी शुरु हो जाते हैं। वहीं इस वर्ष प्रयागराज में कुंभ मेला लगने वाला है जिसमें पहला शाही स्नान मकर संक्रांति यानी 15 जनवरी को किया जाएगा। ज्योतिष गणना के अऩुसार जब बृहस्पति मेष राशि में और सूर्य, चंद्र मकर राशि में प्रवेश करने पर अमावस्या के दिन प्रयागराज में कुंभ का आयोजन होता है। मकर संक्रांति के दिन सामान्यतः स्नान करने की परंपरा है लेकिन कुंभ में इस दिन पहला स्नान होता है जिसे शाही स्नान कहा जाता है। कई जगहों पर संक्रांति को खिचड़ी पर्व भी कहा जाता है, इसलिए इस दिन खिचड़ी खाने व दान करने की परंपरा निभाई जाती है।

shahi snan

केरल में सबरीमाला के दर्शन के लिए उमड़ती है भीड़

देश में विभिन्न तीर्थ स्थान है, जहां मकर संक्रांति के मौके पर ही तीर्थ की शुरुआत मानी गई है। उत्तर प्रदेश में कुंभ मेले की शुरुआत हो जाती है तो केरल में सबरीमाला में दर्शनों के लिए लोग उमड़ पड़ते हैं। इसी दिन नर्मदा ताप्ति नदियों में डुबकी भी लगाना शुभ माना गया है। प्राचीन मान्यता है कि इस दिन पवित्र नदियों में स्नान से सभी पाप धुल जाते हैं।

मान्यता है कि सूर्य का मकर राशि में प्रवेश शाम या रात्रि को होगा, तो इस स्थिति में पुण्यकाल अगले दिन स्थानांतरित हो जाता है। शास्त्रों में उदय काल (सूर्योदय) को ही महत्व दिया गया है। ऐसे में उदयकालीन तिथि की मान्यता के अनुसार 15 जनवरी को ही सूर्योदय से लेकर दोपहर 11.28 बजे तक मकर संक्रांति पर्व का पुण्य काल रहेगा। इस दिन गंगा स्नान के लिए तीर्थ स्थल और संगम तटों पर श्रद्धालुओं का भारी सैलाब उमड़कर स्नान-दान का पुण्य लाभ अर्जित करता है। सूर्य के उत्तरायण होने से मनुष्य की कार्यक्षमता में वृद्धि होती है। उदयकालीन तिथि के अनुसार 15 जनवरी को ही सूर्योदय काल से दोपहर 11.28 बजे तक मकर संक्रांति के पुण्य काल में स्नान दान किया जाना लाभदायक है।

Published On:
Jan, 10 2019 03:42 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।