यूपी में किसानों ने डीएम कार्यालय परिसर में फेंका दो सौ लीटर दूध

By: Akhilesh Kumar Tripathi

Updated On:
08 Jul 2019, 06:08:02 PM IST

  • डीएम ने मामले की जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

फतेहपुर. सूबे की योगी सरकार एक तरफ जहां प्रदेश में किसानों को कामधेनु योजना के तहत सस्ती दरों में डेयरी खोलने के लिए लोन दे रही है, वहीं दूसरी तरफ किसानों को दूध बेचने के लिए इधर-उधर की ठोकरें खानी पड़ रही है। घटना से आक्रोशित किसानों ने सोमवार को डीएम कार्यालय पर दूध फेंककर अपना विरोध जताया।

 

यह भी पढ़ें:

किसानों ने सड़कों पर बहा दिया हजारों लीटर दूध, फेंकी लाखों की सब्जियां

 

 

फतेहपुर के अशोथर विकासखंड के जरौली गांव के किसानों ने सोमवार को करीब 200 लीटर दूध को कलेक्ट्रेट परिसर में पहुंच कर डीएम ऑफिस के सामने पलट दिया, पीड़ित किसान की मानें तो अशोथर कस्बे में मदर डेयरी ने कलेक्शन सेंटर खोल रखा है, वो अपना दूध मदर डेयरी कंपनी में दिया करता थे। करीब चार महीने से उसे वहीं से दूध में खामियों की बात कर लौटा दिया जाता था।

 

यह भी पढ़ें:

चीनी मिल चालू करने और बकाया की मांग को लेकर सड़क पर उतरे किसान, एनएच-28 को किया घंटों जाम

 

 

पीड़ित किसान की मानें तो कलेक्शन सेंटर में फैट चेक करने वाली मशीन से छेड़छाड़ कर रखी है, जिसकी शिकायत उसने जिला प्रशासन तक से की थी, लेकिन कहीं कोई सुनवाई नहीं हुई तो डीएम ऑफिस के सामने अपना पूरा करीब 200 लीटर दूध बहा दिया। वहीं डीएम ने मामले की जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है।

 

BY- RAJESH SINGH

 

यहां देखें वीडियो

Updated On:
08 Jul 2019, 06:08:02 PM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।