इटावा पुलिस लाइन में घुसे बलवाई और दंगाई, पुलिस लाइन में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला

By: Ruchi Sharma

Updated On: Sep, 12 2018 03:42 PM IST

  • इटावा पुलिस लाइन में घुसे बलवाई और दंगाई, पुलिस लाइन में मचा हड़कंप, जानिए पूरा मामला

इटावा. जिले में स्थित पुलिस लाइन में एकाएक बड़ी तादात में बलवाई और दंगाइयों ने घुसने के बाद पथराव, आगजनी और गोलीबारी शुरू कर दी। जिससे पुलिस लाइन में हर ओर अफरा तफरी मच गई।

इस मंजर ने पुलिसकर्मियों के बीच खासी बैचनी मचा दी लेकिन पुलिसकर्मियों को तब राहत का एहसास हुआ जब उनको इस बात का पता चला कि यह दंगाई और बलवाई असली नहीं बल्कि नकली है। इस तरह का मंजर अगर हकीकत में होता तो निश्चित ही पुलिस की मुसबीत पढ़ सकती थी । वो तो भला था कि यह सब पुलिस का बलवा ड्रिल था । जिसकी तैयारियां पुलिस प्रशासन इसलिए करवा रहा है ताकि निकट समय मे आने वाले पर्वो के साथ साथ होने वाले चुनाव मे पुलिस एलर्ट मोड पर बनी रहे ।

इन बलवाइयों को देख अधिकारियों ने पुलिस कर्मचारियों की जमकर प्रशंसा की। आंसू गैस के गोले,पथराव और उपद्रव के बीच इटावा पुलिस लाइन ग्राउंड में दस टीमों द्वारा बलवा ड्रिल किया गया। इन टीमों में कुछ टीमें बलवाई तो कुछ पुलिस की वर्दी में थीं। बलवा कर रहे लोगों पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले दागे और उसके धुएं में उनके ऊपर लाठियां भी भांजी गईं। इस दौरान फायर बिग्रेड भी पुलिस लाइन ग्राउंड में मौजूद थीं, जिससे आगजनी की घटना पर काबू पाया जा सके।

पुलिस लाइन के अन्य कर्मचारियों को एक बार तो ऐसा लगा कि ग्राउंड में बलवाई घुस आए हैं, जो बलवा कर रहे हैं और उन्हें रोकने के लिए पुलिस अपनी पूरी जान लगाए है लेकिन कुछ देर बाद उन्हें मालूम पड़ा कि यह बलवा ड्रिल है तो उन्होंने राहत की सांस ली और ड्रिल में भाग ले रही पुलिस की प्रशंसा की।

बलवा ड्रिल के दौरान जो मंजर देखने को मिला वो हकीकत से काफी कुछ मिलता जुलता हुआ एहसास करा रहा था । भीड़ दिल दहला देने वाली आवाज में नारे लगा रही थी । पुलिस ने पहले चेतावनी दी । पर भीड़ नहीं मानी और लगातार आगे बढ़ती रही । उसके बाद आंसू गैस छोड़े गए । फिर भी बलवाई नहीं माने तो आखिर में लाठी चार्ज की गई । पर बलवाई पुलिस के लोगों से ही लड़ पड़े। वाटर कैनन का इस्तेमाल भी बलवाइयों पर काम नहीं आया तो खुद सीओ सिटी डा.अंजनी कुमार चतुर्वेदी व सदर एसडीएम सिदार्थ ने जाकर बलवाइयों को समझाया वो फिर भी नही माने तो अधिकारियों ने भी बंदूक उठा ली और फिर फायरिंग शुरू हो गई ।

इसके बाद सीओ सिटी डॉ. अंजनी चतुर्वेदी व सदर एसडीएम सिद्धार्थ ने माइक उठाया और चेतावनी दी कि यदि अब नहीं माने तो फायरिंग सीधे की जाएगी। इसके बाद फायरिंग शुरू हो गई। पर इस दौरान कई असलहों से फायर ही नहीं हुआ ।

Published On:
Sep, 12 2018 03:13 PM IST