दुष्कर्म के विरोध में निकाला कैंडिल मार्च

By: Amit Sharma

Updated On:
22 Apr 2018, 09:07:13 AM IST

  • सर्व समाज के लोगों ने परमेश्वर से प्रार्थना की दुष्कर्म करने वाले दरिदों को ईश्वर सद्बुद्धि दे।

एटा। बलात्कार की घटनाओं के विरोध में पूरा देश जल रहा है। इसी तर्ज पर चार दिनों में हुई रेप की दो वारदातों से जनपद में लोगों में आक्रोश है। भिन्न भिन्न जति समुदाय के लोगों ने इन घटनाओं की निंदा की करते हुए शहर में मार्च निकाला और बच्चियों की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की गई। सर्व समाज के लोगों ने परमेश्वर से प्रार्थना की दुष्कर्म करने वाले दरिदों को ईश्वर सद्बुद्धि दे। सैकड़ों की संख्या में लोगों ने मार्च में हिस्सा लिया।

यह भी पढ़ें- अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए भाजपा के विरोध में हिन्दू महासभा का उपवास, देखें वीडियो

 

दरिदों को मिले सख्त से सख्त सजा

निरंतर हो रही घटनाओं को लेकर शहर में इस दिनों हर रोज़ कैंडिल मार्च निकले जा रहे हैं। क्रिश्चियन समाज के लोग भी चर्च पर भारी संख्या में इकठ्ठे हुए और कतार लगाकर रोड पर महिलाएं और बच्चों के हाथों में जलते हुए कैंडल थे। शांति पूर्ण ढंग से ये लोग जनपद के कई जगह पर घूमे और अंत में घण्टा घर पर महात्मा ग़ांधी की मूर्ति पपर कैंडल लगाए और प्रार्थना की। मार्च के दौरान बच्चों के हाथों में राष्ट्रध्वज भी दिखाई दिया और ईश्वर से यह प्रार्थना की कि मासूम बच्चियों के साथ ऐसा घिनोना कृत्य करने वाले अपराधी कभी भी खुश नहीं रह सकते। ये लोग मासूमों के बचपन के दुश्मन हैं इन लोगों को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए। साथ ही ये भी कहा कि इससे बेटियों की सुरक्षा पर सवाल भी उठता है। ऐसे में बेटियां अपने आपको असुरक्षित महसूस करें इसके लिए सरकार को स्कूलों में पढ़ रही बच्चियों की सुरक्षा का जिम्मा उठाना चाहिए। इस मार्च की अगुवाई चर्च के पादरी नेथनियल दास ने की।

यह भी पढ़ें- SSP ने खुद संभाली मुठभेड़ की कमान, 22 घंटे के अंदर ही अपहरणकर्ताओं से बच्चा कराया मुक्त

Updated On:
22 Apr 2018, 09:07:13 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।