रिपोर्ट में खुलासा: कर्मचारियों की दक्षता में निवेश कम होने से फेल होती ऑटोमेशन तकनीक

By: Dilip Chaturvedi

Updated On: Nov, 06 2018 12:35 PM IST

  • रिपोर्ट के अनुसार, अधिकांश कंपनियों (58 फीसदी) में ऑटोमेशन के क्षेत्र में कार्यकारी अधिकारियों की उत्पादकता में वृद्धि का वांछित लक्ष्य पूरा नहीं हो रहा है...

     

मुंबई। मौजूदा कार्यबल को अतिरिक्त कौशल से संपन्न बनाने पर निवेश कम होने के कारण ज्यादातर कारोबारों में दुनिया में हो रहे ऑटोमेशन का लाभ नहीं मिल रहा है। यह बात बुधवार को एक नई रिपोर्ट में कही गई। फ्रांस की प्रमुख प्रौद्योगिकी सेवा कंपनी केपजेमिनी का विचार मंच केपजेमिनी रिसर्च इंस्टीटूट की एक रिपोर्ट के अनुसार, अधिकांश कंपनियों (58 फीसदी) में ऑटोमेशन के क्षेत्र में कार्यकारी अधिकारियों की उत्पादकता में वृद्धि का वांछित लक्ष्य पूरा नहीं हो रहा है।

दुनियाभर के 400 बड़े संगठनों के 800 कार्यकारी अधिकारियों और 1,200 कर्मचारियों के सर्वेक्षण पर आधारित अध्ययन में सुझाव दिया गया है कि 50,000 या उससे अधिक कुशल कार्यबल वाले उद्यमों में उन उद्यमों के मुकाबले नौ करोड़ डॉलर की बचत हो सकती है जिनमें कर्मचारी व अधिकारियों को अतिरिक्त कौशल बढ़ाने की दिशा में काम नहीं होता है।

केपजेमिनी इन्वेंट के प्रबंध निदेशक (पीपल एंड आर्गेनाइजेशन प्रैक्टिस) क्लॉडिया क्रमनेर्ल ने कहा, "बहुत सारी बड़ी कंपनियों में प्रशिक्षण कार्यक्रम का अभाव है और वे पूरी उत्पादकता का लाभ लेने की दिशा में कार्य नहीं कर रही हैं।"

अध्ययन में शामिल 37 फीसदी प्रतिभागियों ने ऑटोमेशन योजना शुरू करने की वजह के बारे में पूछे जाने पर कहा कि इससे कार्यबल की उत्पादकता बढ़ती है और गुणवत्ता में सुधार होता है। लेकिन 58 फीसदी कार्यकारी अधिकारियों और 54 फीसदी कर्मचारियों ने कहा कि ऑटोमेशन से उनके संगठन में अब तक उत्पादकता में सुधार नहीं आया है।

Published On:
Nov, 06 2018 12:35 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।