General Knowledge - इंटरव्यू में पूछे जाते हैं GK के ये सवाल, जानें इनके उत्तर

By: Sunil Sharma

Published On:
Feb, 17 2019 12:37 PM IST

  • आम तौर पर कुछ प्रश्न ऐसे होते हैं जो लगभग सभी कॉम्पीटिशन एग्जाम्स में पूछे जाते हैं। जानिए ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब-

आम तौर पर कुछ प्रश्न ऐसे होते हैं जो लगभग सभी कॉम्पीटिशन एग्जाम्स में पूछे जाते हैं। जानिए ऐसे ही कुछ सवालों के जवाब-

प्रश्न (1) टायर काले रंग के ही क्यों होते हैं?
यह तो आप जानते ही होंगे टायर रबड़ से बनता है लेकिन प्राकृतिक रबड़ का रंग तो स्लेटी होता है तो फिर टायर काला कैसे? दरअसल बनाते वक्त इसका रंग बदला जाता है और ये स्लेटी से काला हो जाता है। टायर बनाने की प्रक्रिया को ‘वल्कनाइजेशन’ कहते हैं। टायर बनाने के लिए उसमें काला कार्बन मिलाया जाता है, जिससे रबर जल्दी नहीं घिस सके। अगर सादा रबर का टायर 10 हजार किलोमीटर चल सकता है तो कार्बनयुक्त टायर एक लाख किलोमीटर या उससे अधिक चल सकता है।

अगर टायर में साधारण रबर लगा दिया जाए तो यह जल्दी ही घिस जाएगा और ज्यादा दिन नहीं चल पाएगा इसलिए इसमें काला कार्बन और सल्फर मिलाया जाता है जिससे कि टायर काफी दिनों तक चल सके। काले कार्बन की भी कई श्रेणियां होती हैं और रबर मुलायम होगी या सख्त यह इस पर निर्भर करेगा कि कौनसी श्रेणी का कार्बन उसमें मिलाया गया है। मुलायम रबड़ के टायरों की पकड़ मजबूत होती है लेकिन वो जल्दी घिस जाते हैं, जबकि सख्त टायर आसानी से नहीं घिसते और ज्यादा दिन तक चलते हैं। टायर बनाते वक्त इसमें सल्फर भी मिलाया जाता है और कार्बन काला होने के कारण यह अल्ट्रा वॉयलेट किरणों से भी बच जाता है।

प्रश्न (2) आखिर लिफ्ट में आइना क्यों लगाया जाता है?
दरअसल इसके पीछे वजह है हमारी बेसब्री। कई बार बहुमंजिला इमारतें इतनी ऊंची होती हैं कि हमें ऊपर पहुंचने में थोड़ा समय लग जाता है। इस दौरान लिफ्ट कई बार बीच में रुकती है। शुरुआती दिनों में लिफ्ट में लोगों को कुछ इसी तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ा था, उन्हें ऐसा लगता था कि लिफ्ट में उनका काफी समय बर्बाद हो जाता है। इसके अलावा कई लोग तो लिफ्ट में चढऩे से भी डरा करते थे। सालों की मेहनत के बाद तैयार की गई लिफ्ट्स में लोगों को आ रही इस तरह की परेशानियों का हल निकाल पाना मुश्किल हो रहा था।

लोगों की इस सोच ने इंजीनियर्स की सिरदर्दी बढ़ा दी थी, जिसके बाद विशेषज्ञ लिफ्ट की स्पीड बढ़ाने पर विचार करने लगे। किसी ने ये सुझाव दिया कि क्यों न लिफ्ट में आइना लगा दिया जाए। इससे लिफ्ट में चढऩे वाले लोग खुद को सजाने-संवारने में व्यस्त रहेंगे, जिससे लिफ्ट की गति पर उनका ध्यान नहीं जाएगा। शुरुआती दिनों में इस सुझाव को ट्रायल के रूप में इस्तेमाल किया गया, इस दौरान ये फॉर्मूला कारगर साबित हुआ, जिसके बाद दुनियाभर में लिफ्ट्स में शीशों का इस्तेमाल किया जाने लगा। अगली बार जब आप लिफ्ट में चढ़ेंगे तो अपने साथी के साथ शीशा देखते हुए ये जरूर कहेंगे, क्या तुम्हें पता है लिफ्ट में आइना क्यों लगाया जाता है।

प्रश्न (3) एफिल टावर क्यों बनी?
फ्रांस के पेरिस शहर में वर्ष 1889 में बनाई गई एफिल टावर आज यह फ्रांस की सबसे बड़ी प्रतीक है। इसका नाम इंजीनियर गुस्ताव एफिल के नाम पर है, जिन्होंने इसे डिजाइन किया था।

Published On:
Feb, 17 2019 12:37 PM IST

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।