अब सीए स्टूडेंट्स को दिग्गज देंगे वर्चुअल क्लास

By: Amanpreet Kaur

Updated On:
12 Sep 2018, 09:49:11 AM IST

  • इंस्टीट्यूट ने तैयार किया कई नामी एक्सपट्र्स का पैनल, जिनका वित्तीय प्रारूप और कानून बनवाने में है खास योगदान

स्टूड़ेंट्स को क्वालिटी एजुकेशन देने के लिए द इंस्टीट्यूट ऑफ चार्टर्ड अकाउंटेंट्स ऑफ इंडिया की ओर से नई पहल की जा रही है। इसके तहत इंस्टीट्यूट में अब स्टूडेंट्स ऐसे दिग्गजों से रूबरू होंगे, जिनका पॉलिसी बनाने, अकाउंटिंग स्टैंडड्र्स तय करने और वित्तीय कानूनों में अहम भूमिका रही है। इंस्टीट्यूट से मिली जानकारी के अनुसार इंस्टीट्यूट अब स्टूडेंट्स को ऐसे नामी एक्सपट्र्स के लेक्चर के जरिए इंटरेक्ट करवाने का प्रयास कर रहा है। इस संबंध में इंस्टीट्यूट की कमेटी में हाल ही यह फैसला हुआ है। दरअसल आईसीएआई देश के दिग्गज वक्ता और प्रोफेसर को वचु्र्रअल माध्यम से एक प्लेटफॉर्म पर लाना चाह रही है, ताकि स्टूडेंट्स सीधे इनसे जुड़ कर अपने क्वेरीज सॉल्व कर सकें और मार्गदर्शन ले सके। इंस्टीट्यूट से एक अधिकारी ने बताया कि सीए सिलेबस को स्टडी करवाने के लिए देशभर के प्राइवेट कोचिंग इंस्टीट्यूट अब स्टूडेंट्स का कई बड़े लेक्चरर से इंटरेक्ट करवा रहे हैं, लिहाजा सभी बिना कोचिंग के स्टूडेंट देश के नामी एक्सपट्र्स से मार्गदर्शन ले सके, लिहाजा स्टूडेंट्स ने यह पहल की है।

एग्जाम फोकस्ड होगी स्टडी

पैनल में शामिल सभी एक्सपट्र्स डिफरेंट विषयों पर स्टूडेंट्स की क्लास लेंगे। ये सभी क्लासेज एग्जाम बेस्ड होगी। यह क्लासेज इंटरमीडिएट और फाइनल दोनों स्ट्रीम के स्टूडेंट्स के लिए होगी। इसके साथ ही इसमें टैस्ट भी होगा, जिससे फीडबैक मिल सके।

हाइक्लास रिकोर्डिंग रूम में रिकॉर्ड होंगे लेक्चर

इंस्टीट्यूट स्टूडेंट्स को नॉलेज देने के लिए हाईक्लास रिकोर्डिंग रूम में इन दिग्गजों के लेक्चर करवाएगा, जो सभी बडे सेंटर जैसे इंदौर, जयपुर, कानपुर पर सेटेलाइट पर लाइव टेलीकास्ट होगा। इसके अलावा छोटे सेंटर्स (शहरों) में रिकॉर्डेड लेक्चर के जरिए स्टडी होगी। कई इंस्टीट्यूट पैन ड्राइव के जरिए भी इन लेक्चर्स का मैटेरियल प्रोवाइड करवाएगा।

ये हैं शामिल

इंस्टीट्यूट की ओर से वचु्र्रअल माध्यम के जरिए इंटरेक्शन पैनल में कई बड़े नाम शामिल किए गए हैं। इसमें इंदौर के मनोज फडनीस, जिनका अकाउटिंग स्टैण्डड्र्स और इडेएस के लिए बहुत महत्वपूर्ण नाम है को शामिल किया गया है। इसके अलावा नेफ्रा और फाइनेशियल सिस्टम में पकड़ रखने वाले दिल्ली के अमरजीत चोपड़ा, मुंबई के पी.आर. रमेश, पद्यश्री टी.एम मनोहरण और गवर्नमेंट ऑफ इंडिया के कई पॉलिसीज में सलाहाकार गिरीश आहूजा, बिनोद गुप्ता, पुणे के वी.सी. दाते इंदौर के असीम त्रिवेदी और तथा सार्थक जैन जैसे नाम शामिल है।

Updated On:
12 Sep 2018, 09:49:11 AM IST

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।