कितना भी हो रहा हो शोर, इस मिलिट्री टेक्निक से पलक झपकते ही आ जाती है नींद

Vineet Singh

Publish: Sep, 12 2018 01:15:40 PM (IST)

अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको ऐसी मिलिट्री टेक्निक के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे पालक झपकते ही नींद आ जाती है।

 

नई दिल्ली: आजकल जी भागती दौड़ती ज़िंदगी में लोगों के पास समय का बेहद अभाव रहता है, लोग सारा दिन जमकर काम तो करते हैं लेकिन जब बात आती है सोने की तब नींद ही नहीं आती है। दरअसल नींद ना आना एक खतरनाक बीमारी है जिसका इलाज ना किया जाए तो बड़ी समस्या हो जाती है। अगर आप भी इस समस्या से जूझ रहे हैं तो हम आपको ऐसी मिलिट्री टेक्निक के बारे में बताने जा रहे हैं जिससे पालक झपकते ही नींद आ जाती है।

  1. यह टेक्निक आपको कुछ ही मिनटों में गहरी नींद में पहुंचा देती है, इस टेक्निक की मदद से जल्दी सोने के लिए आपको सबसे पहले किसी बिस्तर पर लेटना होता है और आंखें बंद करनी होती हैं।
  2. अब आपको अपने दिमाग में चल रही तमाम-तरह की बातों को भूलने की कोशिश करनी होती है, क्योंकि जब तक आपके दिमाग में ये बातें चलती रहेंगी आपको नींद नहीं आएगी।
  3. अब आपको अपने चेहरे की मांसपेशियों को बिल्कुल स्थिर करना होता है क्योंकि जब तक ऐसा नहीं होगा तब तक आप सो नहीं सकते हैं।
  4. बार-बार आंखें खोलने की वजह से आपको नींद नहीं आएगी इसलिए अपने चेहरे के भाव को एकदम सामान्य कर लीजिए और अपनी आंखें बंद कर लीजिए।
  5. इसके बाद आपको अपने शरीर को बिलकुल ढीला छोड़ देना है, इस तरह से आप एक आरामदायक पोजीशन में आ जाएंगे।
  6. कई लोग अपने कन्धों को ढीला नहीं छोड़ते हैं जिसकी वजह से नींद पर असर पड़ता है, इसलिए सोने की कोशिश करते समय आपको अपने कन्धों को बिल्कुल ढीला छोड़ देना होता है।
  7. अब आपको अपने दिमाग में सोंचना होता है कि आपको बहुत तेज नींद आ रही है और आप जग नहीं सकते हैं।
  8. जब आप सोने की कोशिश कर रहे हों तब ध्यान रखें कि हाथ पैरों की उंगलियां ना हिलें, इससे आपको फ़ौरन नींद आ जाती है।
  9. अब आपको अपने मन सोंचते रहना है कि आप गहरी नींद में आ गए हैं और आपको बहुत आराम मिलने लगा है।
  10. इस टेक्निक को करने के लिए आपको कम से कम 6 हफ़्तों की प्रैक्टिस करनी पड़ती है इसके बाद आप इतने माहिर हो जाते हैं कि चाहे कितना भी शोर क्यों ना हो रहा हो, आपको फ़ौरन नींद आ जाएगी।
More Videos

Web Title "Sleep with this militry technique in just two minutes"